Featured

कच्चे बोरबेल में 90 फीट नीचे 7 दिनों से फंसी है महिला

अब तक बाजू से 100 फीट ड्रिलिंग हुई, गीली मिट्टी और पानी ने बढ़ाई मुश्किल

गंगानगर सिटी । एक म‎हिला ‎‎पिछले सात ‎दिनों से कच्चे बोरबेल में 90 फीट की गहराई पर फंसी हुई है। इसके ‎लिए बाजू से 100 फीट ड्री‎लिंग भी कर ली गई है, ले‎किन पानी और कीचड़ ने रास्ता रोक ‎दिया है। हालां‎कि एनडीआरएफ के जवान बारी-बारी से ऑक्सीजन सिलेंडर और मास्क लगाकर गड्ढे में उतरे और बोरबेल तक चार फीट लंबी व ढाई फिट चौड़ी सुरंग बनाने का काम शुरू किया है। सुरंग बनाने का काम अंतिम चरण में पहुंच गया है और उम्मीद है कि जल्द ही महिला को रेस्क्यू कर लिया जाएगा। जानकारी के अनुसार राजस्थान के गंगापुर सिटी जिले में एक महिला 7 दिन पहले बोरवेल में गिर गई थी, जिसे रेस्क्यू करने के लिए 6 दिन से ऑपरेशन चल रहा है। घटना बामनवास क्षेत्र के रामनगर ढोसी गांव की बताई जा रही है, जहां खेत में बने एक कच्चे बोरवेल में महिला गिर गई थी। ‎मिली जानकारी के अनुसार विगत छह दिनों से एनडीआरएफ व एसडीआरएफ की रेस्क्यू टीमें महिला को बाहर निकालने का लगातार प्रयास कर रही हैं। लेकिन बार-बार आ रही बाधाओं के चलते रेस्क्यू में देरी हो रही है।

बताया जा रहा है ‎कि बोरवेल में 90 फीट की गहराई पर महिला फंसी हुई है। रेस्क्यू टीम ने बोरवेल के समीप 100 फीट गहरा गड्ढा खोदा है। लेकिन गड्ढे में पानी आने से सुरंग बनाने व महिला को रेस्क्यू करने में दिक्कतें आ रही हैं। गड्ढे से बोरवेल तक चार फीट लंबी ब ढाई फिट चौड़ी सुरंग बनाई जानी है। गड्ढे में भरे पानी को पम्प सेट के माध्यम से बाहर निकाला जा रहा है। लोगों ने बताया ‎कि ‎गत 6 फरवरी की रात 8 बजे एक 25 वर्षिय महिला मोना बैरवा खेत में गई थी और धोखे से वहां बने कच्चे बोरवेल में गिर कर फंस गई।

महिला के देर रात तक घर नहीं लौटने पर परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की लेकिन उसका पता नहीं चल सका। बुधवार सुबह कच्चे बोरवेल के पास महिला की चप्पल दिखाई दी, तो परिजनों को उसके बोरवेल में गिरने का अंदेशा हुआ। परिजनों ने प्रशासन को इसकी सूचना दी। तब एनडीआरफ को भी सूचित किया गया और एक मेडिकल टीम भी मौके पर पहुंची। बोरवेल 90 से 100 फीट गहरा बताया जा रहा है। जहां एसडीआरएफ व एनडीआरफ की टीमें बुधवार शाम करीब 5 बजे मौके पर पहुंचीं और तभी से रेस्क्यू ऑपरेशन भी शुरू कर ‎दिया है, जो अभी तक चल रहा है।

Related Articles

Back to top button