Featured

जब आडवाणी के सामने पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति मुशर्रफ के चेहरे का उड़ा रंग

दाऊद के सवाल पर उड़ गई हवाईयां

नई दिल्ली । भारत रत्न लालकृष्ण आडवाणी ने ना केवल भाजपा को आगे बढ़ाने के लिए बड़ी भूमिका निभाई बल्कि केंद्र सरकार के प्रतिष्ठित पदों पर रहकर देश को आगे बढ़ाने में उनका बड़ा योगदान रहा है। आडवाणी की पहचान उनकी साफ जुबानी के लिए भी है। एक बार आडवाणी के सीधे सवाल से पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ भी सकते में आ गए। वह किसी तरह गोलमोल जवाब देकर झूठ बोल गए लेकिन बाद में उनके ही एक अधिकारी ने बता दिया कि वह झूठ बोल रहे थे।

बात 2001 की है जब दोनों देशों के बीच शांति समझौते के लिए जनरल मुशर्रफ आगरा कॉन्फ्रेंस में शामिल होने के लिए आए थे। तब प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी भी चाहते थे कि तनाव कम हो और शांति का कोई रास्ता निकले। हालांकि पाकिस्तान हमेशा ही आंतक का समर्थक रहा हैं। इसकारण आगरा कॉन्फ्रेंस भी सफल साबित नहीं हो पाई थी। साल 2011 में आडवाणी ने अपने एक ब्लॉग में बताया था कि कैसे उनकी एक बात से ही मुशर्रफ का चेहरा लाल पड़ गया और जुबान सूख गई। दरअसल आडवाणी ने मुशर्रफ से सीधे आतंकियों पर सवाल पूछकर दाऊद इब्राहिम को सौंपने की बात कही थी। यह चर्चा राष्ट्रपति भवन में हुई थी। तब आडवाणी गृह मंत्री थे। उन्होंने ओसामा बिन लादेन को भी लेकर सवाल किया था। हालांकि मुशर्रफ ने तुरंत कहा कि दाऊद और ओसामा उनके देश में नहीं हैं। बाद में ओसामा को पाकिस्तान के एबटाबाद में अमेरिका द्वारा मारा गया। वहीं मुशर्रफ के एक अधिकारी ने ही उनकी पोल खोल दी।

पाकिस्तानी अधिकारी ने कहा था कि मुशर्रफ सफेद झूठ बोल रहे थे। आडवाणी ने बताया था कि वह अधिकारी भी मीटिंग में मौजूद था। वह मुशर्रफ के सामने चुप रहा लेकिन बाद में सच बता दिया। आडवाणी ने कहा था कि मुशर्रफ का रवैया प्रत्यर्पण संधि को लेकर सकारात्मक नजर आ रहा था। आडवाणी ने मुशर्रफ से कहा आप अगर शांति के लिए एक बड़ा योगदान देना चाहते हैं, तब दाऊद को भारत को सौंप दीजिए। बताया जाता है कि दाऊद अब भी कराची में रहता है। 1993 के सीरियल ब्लास्ट मामले में वह मोस्ट वॉन्टेड है। बीते साल अमेरिका ने दाऊद इब्राहिम को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया। 2022 में यही सवाल पाकिस्तान फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी के चीफ रहे मोहसिन बट के सामने भी रखा गया था। हालांकि उन्होंने चुप्पी साध ली।

Related Articles

Back to top button