Uncategorized

पुलिस अस्पताल के डॉक्टर की बेटी का कमरे में बंद कर माल उड़ाने वाली शातिर महिला गिरफ्तार

दिल्ली में काटी थी फरारी, चोरी का सोना पचौर के सुनार को बेचा, चोरी के माल छुड़ाईं गिरवी रखी गाड़ी
भोपाल। राजधानी की क्राइम ब्रांच और टीटी नगर पुलिस टीम ने संयुक्त कार्यवाही करते हुए सम्मोहन कर ठगी व चोरी करने वाली महिला को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। मिली जानकारी के अनुसार म.नं. बी-34, 45 बंगले के पास बाणगंगा में रहने वाले फरयादी डॉ अरविंद यादव ने 10 मई को शिकायत करते हुए बताया कि वह पुलिस अस्पताल में डॉक्टर हैं। और उनकी पत्नी भी डॉक्टर है। उनकी 9 साल की बेटी है। सुबह करीब 11 बजे पति-पत्नी अपनी-अपनी ड्यूटी पर चले गए थे।

उनके जाने के बाद एक बदमाश उनके घर में घुसा और उनकी बेटी को कमरे में बंद कर अलमारी में रखी एक लाख की नगदी, सोने चांदी के जेवरात समेटकर भाग गया। बाद में बच्ची ने पिता अरविंद को फोन लगाया जिसके बाद वो तुंरत ही घर पहुंचे। पूछताछ करने पर उनकी बेटी ने उन्हें बताया कि एक महिला सामने के गेट से खिड़की के पास आकर चन्दा मांगते हुए मम्मी, पापा के बारे में पूछ रही थी। उसके बाद एक व्यक्ति अंदर घुस आया और बच्ची को कमरे में बंद कर दिया।

फरियादी डॉक्टर ने जब घर चैक किया तो देखा की गोदरेज की आलमारी का लॉकर खुला था। थोड़ी देर में उनकी पत्नि भी आ गई सामान चैक करने पर 2 तोला सोने की चूड़ी, करीब 8 तोला सोने की झुमकी, टाप्स, बाली एवं करीब एक लाख रुपये नगदी सहितअन्य ज्वेलरी भी गायब थी। पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर जॉच शुरु की। बाद में बंगले में और बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे खंगालने पर सामने आया कि बदमाश ने चोरी का माल घर के बाहर खड़ी एक नकाबपोश महिला को दिया था।

फुटेज के आधार पर पुलिस दोनो की खोजबीन में जुट गई। अज्ञात महिला आरोपी की जानकारी न मिलने पर उसका फोटो सोशल मीडिया पर जारी की थी। सोशल मीडिया पर जारी की गई जानकारी के बाद पुलिस को महिला आरोपी के बारे में जानकारी हासिल हो गई। इसके बाद सदेंही महिला के घर पर क्राइम ब्रांच और थाना टीटी नगर टीम द्वारा दबिश दी गई तब पता चला कि महिला आरोपी परिवार सहित वहाँ से फरार हो चुकी है।

पुलिस ने उसके परिवार की जानकारी जुटाई और महिला आरोपी की बेटी व दामाद सहित परिवार के अन्य लोगो पर दबाव बनाते हुए उसकी बारे में और जानकारी हासिल की। बाद में दोनो थाने की टीमों नें शिवपुरी, झाँसी राजगढ, सिहोर, शुजालपुर, व अन्य जिलो में महिला को पकडने के लिए दबिश दी। आखिरकार तकनीकी सहायता की मदद से थाना क्राइम, टीटी नगर पुलिस टीम ने उसे दबोच ही लिया। आरोपी महिला की पहचान मिश्री बाई पति हरि नाथ (55) निवासी ग्राम बोगड़ी पचोर राजगढ़ के रुप में हुई है।

पूछताछ में महिला आरोपी द्वारा डॉक्टर के घर चोरी की घटना करना स्वीकर करते हुए बताया की उसने घटना के बाद पुलिस से बचने के लिये दिल्ली में फरारी काटी थी, और चोरी किया गया सोना पचौर के सुनार को बेच दिया था। चोरी का माल बेचने पर मिली रकम से उसने गिरवी रखी गाड़ी छुड़ाईं थी। पुलिस उसकी निशानदेही पर माल जप्त करने के साथ ही उसके साथी की गिरफ्तारी के प्रयास कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button