Featured

हरदा के घायलों को जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग से मरीजों को मिला तुरंत उपचार

भोपाल । हरदा में हुई हृदय विदारक घटना में घायल की सूचना के एक घंटे के भीतर ही भोपाल के हमीदिया अस्पताल में 50, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में 10 और जिला चिकित्सालय में 8 बिस्तरों की व्यवस्था की गई। साथ ही भोपाल से 25 एम्बुलेंस हरदा भेजी गई। जिनमें से 3 एंबुलेंस में चिकित्सा उपकरण एवं दवाइयां भेजी गई। गांधी चिकित्सा महाविद्यालय एवं चिरायु मेडिकल कॉलेज से विशेषज्ञों की टीम भी हरदा भेजी गई । जिसमें बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी, ऑर्थोपेडिक सहित विभिन्न विधाओं के विशेषज्ञ शामिल थे।

 मुख्यमंत्री,  उप मुख्यमंत्री सहित विभिन्न जनप्रतिनिधियों ने अस्पताल पहुंचकर भर्ती मरीजों के उपचार की जानकारी ली एवं उनका हालचाल जाना। मरीजों ने जनप्रतिनिधियों से बातचीत में उपचार सेवाओं के प्रति संतोष व्यक्त किया ।

गांधी मेडिकल कॉलेज में 28 मरीज भर्ती किए गए, जिनमें से 3 लोगों को उपचार के बाद एंबुलेंस द्वारा वापस हरदा पहुंचाया गया है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में 8 मरीज भर्ती किए गए थे । सभी भर्ती मरीजों के स्वास्थ्य पर 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा मरीजों के परिजनों के ठहरने एवं भोजन की व्यवस्था की गई । मरीज की सभी आवश्यक रेडियोलॉजिकल, पैथोलॉजिकल जांच निशुल्क की गई । निशुल्क व त्वरित उपचार एवं सभी आवश्यक व्यवस्थाएं करने के लिए मरीजों द्वारा संतोष व्यक्त किया गया।

जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग द्वारा घटना की सूचना के 1 घंटे के भीतर हमीदिया अस्पताल और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में व्यवस्था की गई। इन अस्पतालों में विशेषज्ञों सहित बर्न एवं प्लास्टिक यूनिट और क्रिटिकल केयर यूनिट की टीम भी तैनात की गई थी। हमीदिया अस्पताल में विशेषज्ञों सहित सीनियर एवं जूनियर रेजिडेंट्स , नर्सिंग स्टाफ समेत बड़ी संख्या में कर्मचारियों ने मरीजों का उपचार और देखभाल की।

 

अस्पतालों में आकस्मिक चिकित्सा विभाग, ,सर्जरी, ऑर्थोपेडिक्स बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी, कार्डियक, पीडियाट्रिक एवं अन्य विभागों के डॉक्टरों की ड्यूटी भी लगाई गई । जिला चिकित्सालय जयप्रकाश में भी आईसीयू सहित सभी व्यवस्थाएं क्रियाशील की गई।

Related Articles

Back to top button