Featured

हर साल कम हो रही मप्र के लोगों की उम्र

वायु प्रदूषण को लेकर एनजीटी में अवमानना याचिका दायर

भोपाल । नागरिक उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच ने दीपावली में हाई डेसीबल पटाखों पर रोक लगाने के मामले में बढ़ते वायु प्रदूषण को देखते हुए एनजीटी में अवमानना याचिका दायर की है। मार्गदर्शक मंच के डॉ नाजपांडे और रजत भार्गव ने बताया मध्य प्रदेश में वायु प्रदूषण से लोगों की आयु 5 वर्ष तक घटती जा रही है। जिसको लेकर एनजीटी ने 27 अक्टूबर 2021 को आदेश जारी किए थे। वहीं 2021 में नागरिक उपभोक्ता मंच ने याचिका दायर की थी।

जिसमें एनजीटी ने स्पष्ट निर्देश दिए थे कि खराब गुणवत्ता के वायु प्रदूषण वाले शहरों में पटाखों पर प्रतिबंध रहेगा। जबकि मध्यम श्रेणी वाले शहरों में मात्र 2 घंटे ग्रीन पटाखे फोड़े जाएंगे। लेकिन 2021 और 2022 में इस आदेश का पालन नहीं किया गया। उन्होंने बताया सुप्रीम कोर्ट ने हानिकारक पटाखों पर रोक लगाने के लिए सैंपल लेकर टेस्टिंग करने और विक्रेताओं से अंडरटेकिंग लेने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद मध्य प्रदेश शासन ने 31 अक्टूबर 2021 को सर्कुलर भी जारी किया था। बावजूद इसके सुप्रीम कोर्ट के भी निर्देशों की अनदेखी की गई। जिसके बाद अब नागरिक को उपभोक्ता मार्गदर्शक मंच ने प्रदेश के कलेक्टर और एसपी को निर्देश जारी करने को लेकर अवमानना याचिका दायर की है। हालांकि मार्गदर्शन उपभोक्ता मंच का कहना है वह दिवाली में पटाखे फोडऩे के खिलाफ नहीं है। लेकिन लोगों की सेहत के साथ भी खिलवाड़ नहीं होना चाहिए।

Related Articles

Back to top button