State

दीर्घायु के लिए योग जरूरी, कर्मचारियों को विश्व योग दिवस पर योग करने का संदेश

भोपाल । मध्य प्रदेश कर्मचारी मंच ने आज दसवें विश्व योग दिवस के अवसर पर प्रदेश के 10 लाख कर्मचारियों को दीर्घायु के लिए योग करने का संदेश दिया। मंच के प्रदेश अध्यक्ष अशोक पांडे ने प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि पहली बार विश्व योग दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया था। तब से, मध्य प्रदेश ने इसे व्यापक रूप से मनाकर नागरिकों को स्वस्थ जीवन जीने का महत्वपूर्ण अवसर प्रदान किया है।

योग का महत्व
अशोक पांडे ने कहा, “मनुष्य को प्रसन्न, स्वस्थ और दीर्घायु जीवन जीने के लिए योग करना आवश्यक है। योग में शारीरिक क्षमता बढ़ाने के कई महत्वपूर्ण गुण हैं, जिससे कई जटिल बीमारियों का उपचार संभव है। जबकि लोग विभिन्न प्रकार की एलोपैथिक, आयुर्वेदिक और यूनानी दवाइयों का सहारा लेते हैं, योग में किसी प्रकार की दवाई की आवश्यकता नहीं होती। योग मानव संरचना को सुचारू रूप से संचालित करता है, जिससे मनुष्य एक अच्छे और स्वस्थ जीवन को प्राप्त कर सकता है।”

योग का दैनिक अभ्यास
मध्य प्रदेश कर्मचारी मंच ने सभी कर्मचारियों को प्रतिदिन योग करने और योग का प्रचार करने की अपील की। संगठन का उद्देश्य है कि कर्मचारी अपने परिवार सहित स्वस्थ रहें और योग के माध्यम से दीर्घायु जीवन जीएं।

योग दिवस का इतिहास
2015 से शुरू हुए विश्व योग दिवस को मध्य प्रदेश ने बड़े पैमाने पर मनाया है, जिससे प्रदेश के नागरिकों को योग के लाभों के प्रति जागरूक किया गया है।

स्वस्थ जीवन के लिए योग
अशोक पांडे ने कहा, “योग केवल शारीरिक व्यायाम नहीं है, बल्कि यह एक संपूर्ण जीवनशैली है जो शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक संतुलन को बढ़ावा देती है। योग का नियमित अभ्यास शरीर को मजबूत और लचीला बनाता है, साथ ही मन को शांत और स्थिर रखता है।”

मध्य प्रदेश कर्मचारी मंच का यह संदेश प्रदेश भर के कर्मचारियों के लिए प्रेरणादायक है, जो योग के माध्यम से स्वस्थ और दीर्घायु जीवन जीने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है। कर्मचारियों को प्रतिदिन योग करने और इसे अपने जीवन का अभिन्न अंग बनाने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।

Related Articles