State

बिजली कंपनी के ट्रक के सामने धरना देकर जताया विरोध, नहीं ले जाने दिया ट्रांस्फार्मर

टीकमगढ़ । जिले के ग्राम पंचायत दिगौड़ा में बुधवार को बिजली कंपनी के अधिकारी ट्रांसफार्मर निकालने पहुंचे। जानकारी लगते ही मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण एकजुट हो गए। ग्रामवासी ग्राम मे लगे ट्रांसफार्मर ले जा रहे ट्रक के आगे धरना देकर बैठ गए। उनके विरोध के चलते अधिकारियों को बिना ट्रांस्फार्मर लिए खाली हाथ वापस लौटना पड़ा।
दिगौड़ा निवासी तरुण शुक्ला ने बताया कि बुधवार को विद्युत कंपनी के अधिकारी बिना किसी लिखित आदेश के विद्युत वितरण केंद्र से ट्रांसफार्मर निकालने पहुंच गए। इसके पहले गांव की बिजली काट दी गई। पहले कुछ देर तक तो ग्रामीणों ने सोचा कि मेंटेनेंस के चलते कटौती की गई है, लेकिन जब काफी देर तक बिजली नहीं आई तो कुछ लोग विद्युत उपकेंद्र पहुंचे। यहां आने पर पता लगा कि बिजली कंपनी के अधिकारी ट्रांसफार्मर निकाल रहे हैं। ट्रांसफार्मर निकालने के लिए उन्होंने केंद्र पर क्रेन भी बुलाई गई थी। जैसे ही यह खबर फैलते ही बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ मौके पर जमा हो गई। वहीं ग्रामवासी रमाशंकर पस्तोर ट्रक के आगे धरना देकर बैठ गए। पूछताछ में अधिकारियों ने बताया कि ट्रांसफार्मर पलेरा ले जाया जा रहा है।
वहीं रवि सोनकिया ने बताया कि ट्रांसफार्मर शिफ्टिंग से गांव में विद्युत लोड बढ़ाने की क्षमता कम हो जाएगी। जिससे गांव के लोगों को वोल्टेज की समस्या का सामना करना पड़ेगा। इसी बात को लेकर गांव के लोगों ने विद्युत ट्रांसफार्मर निकालने का विरोध जताया। अधिकारियों से ट्रांसफार्मर निकाले जाने के संबंध में लिखित आदेश के बारे में पूछा गया, लेकिन अधिकारियों ने कोई जवाब नहीं दिया। ग्रामीणों के विरोध के चलते विद्युत कंपनी के अधिकारी ट्रांसफार्मर निकाले बिना ही चले गए।
इस बारे में जब सहायक अभियंता कपिल माथुर से पूछा कि किसके आदेश से ट्रांसफार्मर निकाल कर पलेरा ले जा रहे हैं, तो उन्होंने कोई जबाव नहीं दिया। उन्होंने कहा कि ट्रांसफार्मर नहीं निकाला जा रहा है। जब ग्रामीण धरना देकर बैठ गए तो विद्युत कंपनी के अधिकारी वहां से चले गए।

Related Articles