State

निपुण भारत अभियान: एमपी में मिशन अंकुर के तहत सभी जिलों के स्कूलों का मूल्यांकन



भोपाल – निपुण भारत अभियान के तहत मध्य प्रदेश में मिशन अंकुर को लागू किया गया है। इस अभियान के अंतर्गत फरवरी 2024 में राज्य के सभी जिलों के स्कूलों का मूल्यांकन किया गया। इस वार्षिक मूल्यांकन रिपोर्ट का अनावरण स्कूल शिक्षा मंत्री उदय प्रताप सिंह ने किया।

स्कूल शिक्षा मंत्री का वक्तव्य:
रिपोर्ट के अनावरण के अवसर पर मंत्री उदय प्रताप सिंह ने कहा कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत बुनियादी साक्षरता और संख्यात्मक ज्ञान को बढ़ावा देना हमारा प्रमुख उद्देश्य है। कक्षा तीन के 39% बच्चे हिंदी में निपुण हो चुके हैं, लेकिन अंग्रेजी और गणित में निपुणता के लिए अभी और प्रयास करने होंगे।

बढ़ी हुई स्कूल फीस पर कार्रवाई:
स्कूल फीस बढ़ोतरी के मुद्दे पर मंत्री ने कहा कि उनके द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है। जबलपुर में कार्रवाई की गई है और भोपाल में भी जानकारी मंगवाई जा रही है। नियमों के विपरीत फीस बढ़ाने वाले स्कूलों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

नया तंत्र 6 महीने में होगा विकसित:
मंत्री ने कहा कि वर्तमान पोर्टल में कुछ खामियां हैं, जिनका उपयोग कर स्कूल संचालक मनमानी करते हैं। अगले 6 महीनों में पोर्टल को मजबूत और सुरक्षित बनाया जाएगा। इसके बाद स्कूल संचालकों को सभी जानकारी समय पर उपलब्ध करानी होगी।

शिक्षकों की सख्ती पर विचार:
मंत्री ने कहा कि कई बार शिक्षक पढ़ाई को लेकर छात्रों के साथ सख्त होते हैं, लेकिन यह सख्ती स्नेह और प्यार का रूप होती है और इसे गलत नहीं समझना चाहिए।

शिक्षकों के तबादले पर:
मंत्री उदय प्रताप सिंह ने कहा कि प्राथमिकता के शिक्षकों का युक्ति युक्तकरण किया जा रहा है। कई शिक्षक 20-25 साल से एक ही स्थान पर हैं, उन्हें दूसरे स्थान पर भेजा जाएगा।

Related Articles