State

10 हजार जमा करता और एक जीरो बढ़ाकर एक लाख की पर्ची मालिक को थमा देता

मेडिकल स्टोर संचालक को कर्मचारी ने लगाई 17 लाख की चपत
भोपाल । हबीबगंज पुलिस ने मेडिकल स्टोर संचालक की शिकायत पर उसके शातिर कर्मचारी के खिलाफ गबन का मामला कायम किया है। आरोपी बैंक में यदि एक लाख रुपये जमा कराने जाता तो वह केवल 10 हजार की रकम मेडिकल स्टोर के एकांउट में जमा करता ओर बाकी 90 हजार की रकम अपने दोस्तों और रिश्तेदारो के खाते में जमा करवा देता था। शातिर स्टोर संचालक को बैंक में जमा की गई रकमकी जो पर्ची देता था, उसमें 10 हजार जमा रकम में एक जीरो बढ़ाकर उसे एक लाख कर देता था। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक ईको आकृति सिटी में रहने वाले फरियादी दयाशंकर अमुदानी ने लिखित शिकायती आवेदन देते हुए बताया कि मूल रुप से ग्वालियर जिले के डबरा के रहने वाले है। वह दवा कारोबारी हैं, और दस नंबर मार्केट में शंकर मेडिकल स्टोर नाम से मेडिकल स्टोर संचालित करते है। करीब 25 साल पहले वह डबरा से ट्विंकल गुप्ता नाम के किशोर को अपने साथ भोपाल लेकर आ गए थे। ट्विंकल के पिता नहीं थे। उसकी आर्थिक मदद के लिये वह उसे अपने साथ आए थे। बचपन में ट्विंकल उनके घर में काम करता था। बड़ा होने पर अमुदानी ने उसे किराए का कमरा दिला दिया जिसका किराया भी वह ही देते थे। बीते कई सालों से ट्विंकल उनके शंकर मेडिकल स्टोर पर काम करने लगा था। कई सालो से साथ रहने के काण अमुदानी उसपर पूरा भरोसा करते थे, और बैंक में पैसो जमा करने का काम भी ट्विंकल के जिम्में ही था। बीते दिनों फरियादी को लगा ही उनके खाते में इतना पैसा नहीं है, जितना वह बीते कई महीनो से जमा कर रहे हैं। जब उन्होंने अपने स्तर पर छानबीन की तब उन्हें हेराफेरी की जानकारी लगी। इसके बाद उन्होनें ट्विंकल से पूछताछ की तो वह नौकरी छोड़कर डबरा चला गया। दवा कारोबारी ने उससे संपर्क कर बातचीत करने का काफी प्रयास किया लेकिन जब ट्विंकल ने उनसे किसी तरह भी संपर्क नहीं किया तब उन्होने इसकी पुलिस में कर दी। शिकायत की जांच के दौरान पुलिस को पता चला कि ट्विंकल को फरियादी अमुदानी 1 लाख रुपए देकर बैंक में जमा करने के लिए देते थे। बैंक में ट्विंकल जमा पर्ची पर कभी भी शब्दों में पैसे नहीं लिखता था। एक लाख में से ट्विंकल 10 हजार रुपए केवल अंको में लिखकर मेडिकल स्टोर के एकांउट में जमा करता और बाकी 90 हजार अपने दोस्तों और रिश्तेदारो के एकांउट में जमा करवा देता था। बैंक से बाहर निकलकर वह 10 हजार की बैंक जमा स्लिप पर 10 हजार के अंक में एक 0 बढ़ाकर उसे 1 लाख रुपए कर देता था। शिकायत की लंबी चली जांच के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ गबन व ठगी की धाराओं में मामला कायम कर लिया है।

Related Articles