Sports

टी-20 विश्वकप में इस बार भारतीय टीम के ट्रंप कार्ड होंगे बुमराह

नई दिल्ली । टी-20 विश्वकप क्रिकेट में इस बार तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह भारतीय टीम के प्रमुख हथियार होंगे। बुमराह अपनी योर्कर गेंदों से विरोधी टीम के बल्लेबाजों के लिए मुश्किलें खड़ी कर देते हैं। बुमराह चोटिल होने के कारण पिछली बार टी-20 वर्ल्ड कप से बाहर थे पर उन्होंने 2023 में एकदिवसीय विश्व कप में शानदार प्रदर्शन किया था। आईपीएल के इस सत्र में भी वह जबरदस्त फार्म में नजर आये और उनके सामने रन बनाना बल्लेबाजी के लिए बेहद कठिन रहा। इसी कारण वेस्टइंडीज और अमेरिका में आयोजित हो रहे इस बार के टी-20 वर्ल्ड कप में उन्हें भारतीय टीम का ट्रंप कार्ड माना जा रहा है।
बुमराह की गेंदबाजी में कई विविधताएं हैं पर उनकी यॉर्कर गेंदबाजी सबसे खतरनाक मानी जाती है। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली का भी मानना है कि बुमराह की तरह उन्होंने किसी अन्य गेंदबाज को सटीक यॉर्कर फेंकते हुए नहीं देखा है। वह कहते हैं कि बुमराह बिना रन दिए विकेट लेने वाली गेंद लगातार फेंक सकते हैं। बुमराह अपनी यॉर्कर का इस्तेमाल डेथ ओवर्स में भी काफी अच्छे से करते हैं। अमेरिकी पिचों के रुख को लेकर अभी संशय है और कोई नहीं जानता है कि वे किस प्रकार का व्यवहार करेंगी पर कहा जा रहा है कि पिचें धीमी होंगी ऐसे में विकेट लेने के लिए केवल तेज गति ही पर्याप्त नहीं रहेगी। है। वहां की पिचें कैसा बर्ताव करेंगी इसे लेकर किसी को भी ज्यादा जानकारी नहीं है हालांकि माना जा रहा है कि पिच धीमी होगी। बुमराह ने टी-20 इंटरनेशनल में अब तक 62 मैच में 74 विकेट लिए हैं। उनका औसत 19.66 और इकॉनमी 6.55 रही है।
बुमराह के अलावा भारतीय टीम में मोहम्मद सिराज और अर्शदीप सिंह को भी शामिल किया गया है और ये उनकी जोड़ीदार होंगे। ऐसे में बुमराह के साथ गेंदबाजी की शुरुआत कौन करेगा ये अभी तय नहीं है। दायें बाएं संयोजन को देखते हुए अर्शदीप सिंह को अवसर मिल सकता है।

Related Articles