Featured

शिवराज सरकार नौकरियां देने में रही विफल: शोभा ओझा

नई दिल्ली ! मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार को घेरते हुए कांग्रेस नेता शोभा ओझा ने कहा कि मध्य प्रदेश एक ऐसा राज्य है जहां भाजपा के पिछले 18 वर्षों के शासन में निवेश के नाम पर कुछ भी नहीं आया है। भाजपा सरकार बेरोजगारों को नौकरियां देने में भी असफल साबित हुई है|

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के मद़देनजर कांग्रेस और भाजपा नेताओं के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर चल रहा है| यहां दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता शोभा ओझा ने कहा कि मध्य प्रदेश एक ऐसा राज्य है जहां भाजपा के पिछले 18 वर्षों के शासन में निवेश के नाम पर कुछ भी नहीं आया है। कांग्रेस ने शनिवार को बेरोजगारी को लेकर सत्तारूढ़ भाजपा पर निशाना साधा और कथित बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार के कारण नौकरियां देने में विफल रहने का आरोप लगाया। शोभा ओझा का आरोप है कि ग्लोबल इन्वेस्टर मीट जैसे आयोजनों में करोड़ों रुपये पानी की तरह खर्च करने के बावजूद राज्य में निवेश के नाम पर कुछ नहीं आया। उन्होंने कहा कि प्रदेश के युवा न केवल सरकारी बल्कि प्राइवेट नौकरियों से भी वंचित रहे। यह शर्मनाक है कि राज्य में 17 हजार छात्र और बेरोजगार लोग आत्महत्या कर चुके हैं।

भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में भाजपा ने रोजगार के नाम पर सिर्फ घोटाले किए हैं। पिछले 18 वर्षों में भारी बेरोजगारी, छात्र आत्महत्याओं और घोटालों का शर्मनाक दौर देखने को मिला है| उन्होंने आरोप लग्राया कि भाजपा के संरक्षण में प्रदेश में तमाम माफिया पनपते रहे, जिससे सरकारी नौकरियां घोटालों की भेंट चढ़ गईं। मध्य प्रदेश में उच्च शिक्षा की स्थिति खराब है। राज्य के 70 लाख युवा उच्च शिक्षा से वंचित हैं। इतना ही नहीं स्कूली शिक्षा की स्थिति भी काफी दयनीय है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश के 2600 से ज्यादा स्कूलों में शिक्षक नहीं हैं। 50 हजार शिक्षकों के पद खाली पड़े हैं। उन्होंने घोटाले गिनाते हुए कहा घोटालों की एक पूरी शृंखला है। जैसे- व्यापम घोटाला, पटवारी भर्ती घोटाला, नर्सिंग घोटाला आदि। कांग्रेस युवाओं के भविष्य को लेकर प्रदेश में बेहद संवेदनशील है। यदि कांग्रेस मध्य प्रदेश में सत्ता में आई तो घोटालों में शामिल लोगों को जेल भेजा जाएगा|

Related Articles

Back to top button