Featured

प्रधान आरक्षक राकेश ठाकुर के बलिदान को नमन् , गोली लगने के बाद भी नहीं छोड़ा अपराधियों को

भोपाल । एक अंतर्राज्यीय गैंग के सिवनी में मौजूद होने की सूचना पर पुलिस टीम आरोपियों को पकड़ने तत्काल स्वयं के वाहन से ही रवाना हुई। प्रधान आरक्षक राकेश ठाकुर व पुलिस टीम का सामना अपराधियों की गैंग से हुआ जिसमें प्रधान आरक्षक श्री ठाकुर द्वारा अदम्य साहस का परिचय देते हुए आरोपियों को मौक़े से गिरफ़्तार करते समय आरोपियों द्वारा फ़ायरिंग करने पर उनको गोली लग गई। घायल अवस्था में भी श्री ठाकुर और पुलिस टीम द्वारा तीन आरोपियों को गिरफ़्तार किया गया। पुलिस दल घायल प्रधान आरक्षक श्री ठाकुर को लेकर अस्पताल पहुँचा। इलाज के दौरान प्रधान आरक्षक राकेश ठाकुर की नागपुर में मृत्यु हो गई। प्रकरण में पुलिस थाना सिवनी द्वारा अपराध क्रमांक 67/24 धारा 307,353,333,186,34 भादवि का दर्ज किया गया है। फ़रार चौथे आरोपी की तलाश की जा रही है। मध्यप्रदेश पुलिस अपराधियों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करने हेतु कटिबद्ध है। स्वर्गीय प्रधान आरक्षक राकेश ठाकुर के परिवार में पत्नी तथा उनके दो बच्चों को हर संभव संबल तथा हर संभव मदद प्रदान करने के लिए मध्यप्रदेश शासन व मध्यप्रदेश पुलिस परिवार तत्पर है। मध्यप्रदेश पुलिस का प्रत्येक जवान “देशभक्ति जनसेवा” के लिए वचनबद्ध है।

अंतिम संस्कार में शासन के प्रतिनिधि के रूप में विधायक दिनेश राय मुनमुन श्रद्धांजलि अर्पित करने ग्राम डोभ ज़िला सिवनी पहुँचे। डीजीपी श्री सुधीर सक्सेना ने भी परिजनों से बात कर सांत्वना प्रदान की। एडीजी जबलपुर श्री उमेश जोगा, डीआईजी छिंदवाड़ा तथा एसपी सिवनी भी अंतिम संस्कार में उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button