Featured

संयुक्त राष्ट्र के चुनाव में पाकिस्तान की जीत के बाद उठे सवाल

नई दिल्ली । यूनेस्को के कार्यकारी बोर्ड के उपाध्यक्षध पद के लिए हुए चुनाव में पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ बड़ी जीत दर्ज की है। बता दें कि यूनेस्को संयुक्त राष्ट्र का ही शिक्षा, कला, संस्कृति और विरासत के मामलों का संगठन है। यह संगठन विश्व शांति के लिए भी काम करता है। इसे विडंबना ही कहा जाएगा कि यूनेस्की की लिस्ट में शामिल शारदा पीठ मंदिर को ढहाने वाले पाकिस्तान को वैश्कि संस्था का उपाध्यक्ष बनाया गया है।हालांकि पाकिस्तान की जीत से भारत पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है। बिना सदस्यों की राय के पाकिस्तान किसी भी विरासत को लिस्ट में बढ़ा या घटा नहीं सकता है।

पाकिस्तान ने जीत के बाद कहा है कि वह अपनी जिम्मेदारियों को पूरी तत्परता के साथ निभाएगा। बता दें कि पाकिस्तान में हिंदू मंदिरों और प्राचीन स्थानों, इमारतों पर अकसर हमला किया जाता है। पाकिस्तान की सरकार का भी इसको समर्थन मिलता है। पाक के सिंध प्रांत में हिंगलाज माता के मंदिर को कोर्ट के कथित आदेश के बाद गिरा दिया गया। इस तरह यूनेस्को में शामिल मंदिर को भी गिराने से पाकिस्तान बाज नहीं आ रहा है।रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया है कि एलओसी के पास शारदा पीठ के मंदिर को भी ढहाया गया है। यह यूनेस्को की सूची में शामिल था। मीठी शहर में स्थित हिंगलाज मंदिर को कोर्ट के आदेश के बाद ध्वस्त किया गया। वहीं शारदा पीठ को बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट की तरफ से आदेश भी दिया गया था। लेकिन रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि मंदिर के पास ही कॉफी हाउस का निर्माण हो गया है जिसका उद्घाटन भी होने वाला है। पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के मंदिरों के अलावा उनपर अत्याचार किया जा रहा है। अपहरण, टारगेट किलिंग, जमीनों का अतिक्रमण आम हो गया है।

Related Articles

Back to top button