Featured

निजी कंपनी के कर्मचारी ने जहर खाकर दी जान

भोपाल । अयोध्या नगर थाना इलाके में रहने वाले युवक ने जहरीला पदार्थ खा लिया था। गंभीर हालत में इलाज के लिये उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया जहॉ उपचार के दौरान उन्होनें दम तोड़ दिया। पुलिस को एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें मृतक ने अपनी पत्नि और मायके पक्ष के लोगो को अपनी मौत का जिम्मेदार बताया है। मिली जानकारी के अनुसार अभिनव होम्स अयोध्या नगर में रहने वाले 40 वर्षीय मनोज रघुवंशी पिता तूफान सिंह रघुवंशी एक निजी कंपनी में नौकरी करते थे। उनके परिवार में पत्नि सहित 9 साल का बेटा अक्षय है। बताया गया है कि करीब सात दिन पहले कंपनी के काम से जबलपुर से वापस लौटने के बाद उनकी अपनी पत्नी से लगातार अनबन होने लगी थी। बुधवार रात भी उनका पत्नी से किसी बात को लेकर विवाद हो गया जो थाने तक पहुंच गया। पति-पत्नी का विवाद होने के कारण पुलिस ने काउंसलिंग कराते हुए समझाइश दी। दंपत्ति ने थाने में कहा था कि अब वह विवाद नहीं करेंगे। इसके बाद दोनों घर चले गए। अगले दिन पत्नी बेटे अक्षय को लेकर मायके चली गई। इस पर मनोज ने पत्नी से कहा कि अक्षय की पढ़ाई पर असल पढ़ेगा। लेकिन पत्नी ने उसकी बात नहीं सूनी और बेटे को लेकर मायके चली गई। गुरुवार दोपहर के समय मनोज ने जहरीला पदार्थ खा लिया। संयोग से उसी समय उनके एक परिचित उनसे मिलने उनके घर आये और उसने मनोज को उल्टियां करता देख इलाज के लिये अस्पताल पहुंचाया। वहॉ उपचार के दौरान मनोज ने दम तोड़ दिया। सूचना मिलने पर पहुचीं पुलिस आत्महत्या से पहले मृतक मनोज द्वारा लिया गया एक सुसाइड नोट मिला है। इस नोट में मनोज ने आत्महत्या के लिये अपनी पत्नी के साथ ही मायके पक्ष के दो-तीन अन्य लोगों के नाम भी लिखते हुए उन्हें ही अपनी मौत का जिम्मेदार बताया हैं। मर्ग कायम कर पुलिस ने शव को पीएम के बाद परिवार वालो को सौंपते हुए परिवार वालो को सौंप दिया है। सुसाइड नोट को जप्त कर पुलिस उसके आधार पर आगे की जांच कर रही है।

Related Articles

Back to top button