Featured

अनजान रोग से आलू को होगा समूल नष्ट! वैज्ञानिकों हुए चिंतित

वाशिंगटन । चिप्स से लेकर सब्जी तक में उपयोग होने वाले आलू का अस्तित्व खतरे में है। वजह ये है कि एक नया रोग आया है जो आलू की फसल चौपट कर रहा है। वैज्ञानिकों को फिलहाल उसका कोई समाधान नहीं मिला है। उन्होंने चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि यदि इसी गति से आलू का ये रोग फैलता रहा तो पूरी दुनिया से आलू गायब हो जाएगा। एक नई रिसर्च में पाया गया है कि नए अनजाने बैक्टीरिया आलू की फसलों को बर्बाद कर रहे हैं। ऐसा अमेरिका हो रहा है। यूरोप पर पहले से संकट है। साइंटिस्ट को चिंता है कि अगर यह समस्या बढ़ी तो चिप्स कि किल्लत हो सकती है। इन रोगों का असर दुनिया के कोने कोने में हो सकता है, जो कि बहुत बड़ी चिंता की बात है।

अमेरिका के पेन स्टेट के शोधकर्ताओं ने एक बैक्टीरिया रोगाणु के नए स्ट्रेन खोजे हैं जो आलू की फसल को खासा नुकसान पहुंचा सकते हैं। अमेरिका में आलू का उत्पादन प्रभावित होने से दुनिया भर में चिप्स के उत्पादन पर फर्क पड़ सकता है। अमेरिका में भी पेनसिलवेनिया राज्य में चिप्स का उत्पादन होता है जहां ये बैक्टीरिया आलू की फसल पर खासा असर डाल सकता है। वैज्ञानिकों ने पाया कि ये बैक्टीरिया और उनके वेरिएंट आलू की फल में बैकलेग और सॉफ रॉट जैसे रोग फैला देते हैं. इससे खराब आलू पैदा होते हैं। उनके अध्ययन में 26 अलग अलग खेतों से लिए गए नमूनों में आलू खराब देखे गए हैं। स्टडी में वैज्ञानिकों ने 456 नए बैक्टीरिया के नमूनों की पहचान की है।

इनमें से कई बैक्टीरिया आलू की फसल के लिए बहुत खतरनाक हैं। रिसर्च में डिकेया जैसा स्ट्रेन और पेक्टोबैक्टीरियम की छह प्रजातियां भी शामिल है। इनमें से एक पेक्टोबैक्टीरियम अमेरिका पहले नहीं दिखा था। वैज्ञानिकों ने पाया है कि संक्रमण का दायरा अमेरिका के बाहर तक फैला हुआ हो सकता है। अमेरिका में आलू के उत्पादन में बदलाव या भारी कमी दुनिया पर बड़ा असर डाल सकती है। क्योंकि आलू केवल स्थानीय उपयोग की सब्जी नहीं है। इससे चिप्स उद्योग प्रभावित होगा। वहीं ये बैक्टीरिया यूरोप को भी प्रभावित कर रहे हैं, इससे इनकार नहीं किय जा सकता। यह स्टडी सिस्टेमैटिक एंड एप्लाइड माइक्रोबायोलॉजी में प्रकाशित हुई है। साफ नए और अनजाने बैक्टीरिया की पहाचान

Related Articles

Back to top button