Featured

जुआ के फड़ पर पुलिस टीम ने दी दबिश, 32 लाख 78 हजार जब्त

हार-जीत का दांव लगाते सभी को लिया हिरासत में,

– पुलिस ने कुल 32 लाख 78 हजार 210 रुपए का किया मसरूका जब्त

टीकमगढ़ । पुलिस महानिरीक्षक सागर जोन सागर प्रमोद वर्मा, पुलिस उपमहानिरीक्षक छतरपुर रेंज छतरपुर ललित शाक्यवार,पुलिस अधीक्षक रोहित काशवानी द्वारा अवैध जुआ, सट्टा, शराब, आदि पर कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया गया है। इसी तारतम्य में टीकमगढ़ जिले के समस्त थाना प्रभारियों द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक टीकमगढ़ सीताराम एवं अनुविभागीय अधिकारी पुलिस टीकमगढ़ राहुल कटरे, अनुविभागीय अधिकारी पुलिस जतारा अभिषेक गौतम के मार्गदर्शन में लगातार कार्यवाहियां की जा रही हैं।

इसी क्रम में थाना पलेरा पुलिस द्वारा बुधवार के रोज कार्यवाहियों को अंजाम दिया गया है। पुलिस द्वारा की गई कार्यवाहियों में पहली कार्यवाही में पलेरा पुलिस को मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई के पलेरा थाना क्षेत्र अंतर्गत चंडीगढ़ मोहल्ला में जिले एवं जिले से बाहर तथा उत्तर प्रदेश के लोगों के द्वारा मिलकर बड़े स्तर पर जुआ खेला जा रहा है। जुआरियों की संख्या अधिक होने से पुलिस लाइन टीकमगढ़ से पुलिस बल प्राप्त कर उक्त मुखबिर के बताएं स्थान पर पुलिस द्वारा छापामार कार्यवाही की गई। जिससे मौके पर 1 लाख 40 हजार 210 रुपए नगद 6 फोर व्हीलर वाहन एवं 6 टू-व्हीलर वाहन कीमती लगभग 30 लाख 75 हजार रुपए एवं 17 मोबाइल कीमती लगभग 63 हजार रुपए जब्त किया गया। पुलिस द्वारा कुल मसरूका 32 लाख 78 हजार 210 रुपए का जब्त किया गया। उक्त कार्यवाही करने वाली पुलिस टीम को पुलिस अधीक्षक टीकमगढ़ द्वारा पुरस्कृत करने की घोषणा की गई।

यह पहुंचे पुलिस गिरफ्त में : जुआ खेलते पकड़े गए आरोपी में कृष्ण पाल उर्फ केपी यादव 28 वर्ष निवासी ललितपुर उत्तर प्रदेश, भूरा रजक 28 वर्ष निवासी ललितपुर उत्तर प्रदेश, बृजेश यादव 33 वर्ष निवासी ललितपुर उत्तर प्रदेश, मलखान सिंह 32 वर्ष निवासी ललितपुर उत्तर प्रदेश, हरेंद्र बालमीक 42 वर्ष निवासी पलेरा, पुष्पेंद्र अहिरवार 29 वर्ष निवासी जिला छतरपुर, अमन खरे 21 वर्ष निवासी जिला छतरपुर, संजय शुक्ला 45 वर्ष निवासी जिला छतरपुर, दिनेश खटीक 32 वर्ष निवासी जिला पन्ना, प्रभु दयाल कुशवाहा 40 वर्ष निवासी पलेरा, प्रमोद मिश्रा 48 वर्ष निवासी जिला झांसी उत्तर प्रदेश, प्रताप राय 26 वर्ष निवासी पलेरा, राहुल खटीक 28 वर्ष निवासी जिला छतरपुर, अनस खान 35 वर्ष निवासी जिला पन्ना, गब्बर लोधी 30 वर्ष निवासी जिला अशोकनगर, पुष्पेंद्र विश्वकर्मा 38 वर्ष निवासी पलेरा, भारत कुशवाहा 34 वर्ष निवासी जिला छतरपुर, परशुराम अहिरवार 32 वर्ष निवासी जिला छतरपुर को हिरासत में लेते हुए एक अन्य नाबालिग बालक से कुल कीमती लगभग 30 लाख 75 हजार रुपए सहित 17 मोबाइल जब्त किए गए हैं।

पुलिस के संरक्षण में चल रहा था जुए का व्यापक कारोबार : जिले के पलेरा नगर स्थित चंड़ीगढ़ मुहल्ला में लंबे अरसे से संबंधित अनुविभागीय अधिकारी पुलिस कार्यालय एवं स्थानीय पुलिस के संरक्षण में जुए का कारोबार खुले आम भली भांति सुचारू रूप से संचालित हो रहा था जिसमें अन्य जिलों के अलावा उत्तर प्रदेश के खिलाड़ी स्थानीय लोगों के संरक्षण में बेहिचक जुआ खेलने आते थे। जिसकी जानकारी संबंधित पुलिस थाना को रहती थी। मगर पुलिस एवं खिलाड़ियों को संरक्षण माफियाओं के बीच अच्छा खासा तालमेल होने के कारण इस अवैध कारोबार पर कार्यवाही नहीं हाे पा रही थी। क्योंकि कार्यवाही करने वाले ही शासन के नुमाइंदें इस कारोबार में पर्दे के पीछे खड़े रहकर इनके लिए ओट बनाने का काम करते थे। उक्त जानकारी सूत्रों के हवाले से प्राप्त हुई है।

पुलिस कप्तान की टीम ने पाई सफलता : पुलिस विभाग से जुड़े सूत्रों की मानें तो इस सारी कार्यवाही की सफलता का श्रेय पुलिस रोहित काशवानी की टीम को जाता है क्योंकि एसपी एस्कार्ट ने जुए के फड़ पर कार्यवाही करने में सफलता दर्ज की है। सूत्रों ने बताया कि इस कार्यवाही की जानकारी स्थानीय अनुविभागीय पुलिस कार्याल्य के अलावा स्थानीय पुलिस तक को नहीं दी गई थी। जिला मुख्यालय पर तैनात पुलिस कप्तान की टीम ने सारे घटनाक्रम का पर्दाफाश करने में अपनी अहम भूमिका निभाई है।

पुराने अंदाज में चल रहा था जुआ : पलेरा में निवासरत लोगाें ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि विधानसभा चुनाव के बाद कुछ जनप्रतिनिधियों में फेर बदल हुआ है लेकिन कुछेक जहां के तहां विधानसभा का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि वह नामचीन जनप्रतिनिधि जिनकी सरकार लंबे समय से बरकरार है और उनके रूतबे में कोई कमी नहीं आई है जिसके चलते इस जुए के कारोबार पर चाहते हुए भी पुलिस अंकुश नहीं लगा पाई और यह बात आग की तरह जैसे ही पुलिस कप्तान तक पहुंची तो उन्होंने इस अवैध कारोबार पर अपनी टीम द्वारा छापामार कार्यवाही करते हुए आरोपियों को पुलिस गिरफ्त में लेकर उनसे सघन पूंछताछ की।

Related Articles

Back to top button