Madhya Pradeshpolitics

Police off policy : आज से पुलिस कर्मियों के साप्ताहिक अवकाश शुरू

Bhopal: सीएम शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश पर पुलिस महानिदेशक सुधीर सक्सेना के आदेश पर आज से मध्य प्रदेश पुलिस के कर्मचारियों को साप्ताहिक अवकाश मिलना शुरू हो गया है, पुलिस मुख्यालय के निर्देश पर अब जिला पुलिस प्रशासन थानों में उपलब्ध पुलिस बल को देखते हुए रोस्टर बनाकर साप्ताहिक अवकाश देंगे लेकिन मुख्यालय ने स्पष्ट निर्देश दिए हैं कि अवकाश अवधि में कोई भी पुलिसकर्मी जिले से बाहर नहीं जा सकेगा।

मध्य प्रदेश में पुलिस विभाग में फिर से साप्ताहिक अवकाश की व्यवस्था शुरू की गई है, लम्बे समय से चली आ रही साप्ताहिक अवकाश की मांग पर शिवराज सरकार ने आखिरकार मुहर लगा ही दी है, चुनावी साल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुलिसकर्मियों को ये तोहफा दिया है, उधर व्यवस्था शुरू होने पर ख़ुशी जताते हुए पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ पर इसे लेकर शिवराज सरकार पर तंज कसा है और इसे मामा की चुनावी चाल बताया है

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने आज ट्वीट किया , उन्होंने लिखा- “मुझे खुशी है कि आज से मध्य प्रदेश के पुलिसकर्मियों को फिर से साप्ताहिक अवकाश देने की व्यवस्था शुरू की जा रही है। मैंने मुख्यमंत्री के रूप में जनवरी 2019 में प्रदेश के पुलिसकर्मियों को यह अधिकार दिया था। लेकिन शिवराज सरकार बनते ही पुलिसकर्मियों से उनका यह अधिकार छीन लिया गया था”।

कमल नाथ ने आगे लिखा -“यह बात इसलिए याद दिला रहा हूं कि नीयत को समझना जरूरी है। एक तरफ कांग्रेस है जिसने सरकार बनते ही पुलिसकर्मियों को साप्ताहिक अवकाश दिया, दूसरी तरफ भाजपा है, जिसे 18 साल तक साप्ताहिक अवकाश की याद नहीं आई, बल्कि उसने पुलिसकर्मियों का अधिकार छीना। साप्ताहिक अवकाश बहाल करके शिवराज सरकार पुलिसकर्मियों के साथ किए गए अन्याय का प्रायश्चित करने की कोशिश कर रही है। अगर यह प्रायश्चित सच्चे दिल से होता तब भी कोई बात थी, लेकिन पुलिसकर्मी अच्छी तरह जानते हैं कि यह तो मामा की चुनावी चाल है”।

कमल नाथ के तंज पर गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने पलटवार किया है, उन्होंने कहा कि गजब हैं कमल नाथ जी , ये 15 महीने केवल घोषणा ही करते रहे, उन्होंने सिर्फ घोषणा की एक को भी अवकाश नहीं दिया, घोषणा वो होती है इधर शिवराज जी  ने घोषणा की उधर पीएचक्यू से आदेश जारी हो गए और आज से हमारे पुलिस कर्मचारी साप्ताहिक अवकाश पर जाने भी लगे , उन्होंने कहा कमल नाथ जी सरकार चलाने और मुंह चलाने में फर्क होता

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button