Featured

पार्टियों ने रखी होल्ड पर

एक अनार-सौ बीमार, भाजपा-कांग्रेस दोनों परेशान

भोपाल । राजधानी भोपाल की दक्षिण पश्चिम विधानसभा सीट फिलहाल भाजपा-कांग्रेस दोनों ने होल्ड पर रखी दी है। वजह, दोनों पार्टियों में एक अनार-सौ बीमार जैसे हालात हैं। दावेदारों की संख्या ज्यादा होने से दोनों पार्टियों को प्रत्याशी चयन में बेहद मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। पिछले महीने तक इस सीट से भाजपा सिर्फ पूर्व विधायक उमाशंकर गुप्ता ही एकमात्र दमदार दावेदार थे। लेकिन अब दर्जनभर नेता दावेदार हैं। कांग्रेस भी कमोबेश ऐसे ही हालात हैं।

भोपाल दक्षिण-पश्चिम विधानसभा से भाजपा के दावेदार

उमाशंकर गुप्ता- पूर्व विधायक एवं 15 साल से इसी सीट से चुनाव लड़ते आ रहे हैं। तीन बार जीत चुके हैं

राहुल कोठारी-पार्टी में सबसे प्रबल दावेदार। कई सालों में क्षेत्र में सक्रिय हैं। तथा दिल्ली में दिग्गज नेताओं की पसंद हैं।

सुमित पचौरी- विधानसभा चुनाव लड़ना चाहते हैं। मध्य विधानसभा का टिकट फाइनल हो गया, इसलिए दक्षिण पश्चिम में दावेदारी।

डॉ. अभिजीत देशमुख- भाजपा चिकित्सा प्रकोष्ठ के संयोजक। दक्षिण पश्चिम विधानसभा में कई हेल्थ कैंप लगाए। संघ का चहेता चेहरा हैं। इसलिए टिकट मांग रहे हैं।

सुरेंद्र नाथ सिंह- तुनक मिजाजी के चलते सब कुछ हाथ से निकल गया। अब दक्षिण पश्चिम से टिकट मांग रहे हैं। टिकट मिले ना मिले सुर्खियां जरूर मिल रही हैं।

राकेश शर्मा-दक्षिण-पश्चिम से प्रबल दावेदारी कर रहे हैं। भाजपा के मुखर प्रदेश प्रवक्ता होने के साथ खांटी संघ परिवार से हैं।

कांग्रेस के दावेदार

पीसी शर्मा- वर्तमान विधायक हैं। कमलनाथ सरकार में मंत्री थे। सत्ता परिवर्तन के बाद भी सक्रिय रहे। दिग्विजय सिंह की पसंद हैं।

संजीव सक्सेना- संजीव ने 2008 का चुनाव बसपा से और 2013 का चुनाव कांग्रेस पार्टी से लड़ा था। व्यापमं घोटाले के कारण 2018 का चुनाव नहीं लड़ पाए। अब 2023 का चुनाव लड़ने पर अड़े हुए हैं। कमलनाथ की पसंद हैं।

Related Articles

Back to top button