National

CBI कोर्ट ने मलय नर्सिंग कॉलेज की प्राचार्य की जमानत याचिका खारिज की

भोपाल, मध्य प्रदेश । बहुचर्चित नर्सिंग महाघोटाले में मलय नर्सिंग कॉलेज की प्राचार्य सुमा भास्करन को बड़ा झटका लगा है। CBI कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका खारिज कर दी है। इस मामले में पहले ही 13 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं, जिनमें से चार की जमानत याचिका पहले ही खारिज की जा चुकी है।

जमानत याचिका पर सुनवाई

गुरुवार को भोपाल सीबीआई कोर्ट में सुमा भास्करन की जमानत याचिका पर सुनवाई हुई। शिकायतकर्ता रवि परमार ने उनकी जमानत का विरोध करते हुए कोर्ट में आपत्ति दर्ज की। परमार के वकील आशीष निगम ने आरोप लगाया कि सुमा भास्करन ने सीबीआई के भ्रष्ट अधिकारियों से मिलकर फर्जी नर्सिंग कॉलेजों को मान्यता दिलाने के लिए करोड़ों रुपए का लेन-देन किया था।

आरोप और आपत्ति

NSUI नेता और नर्सिंग घोटाले के शिकायतकर्ता रवि परमार ने बताया कि सुमा भास्करन ने सीबीआई टीम के साथ कई नर्सिंग कॉलेजों का निरीक्षण किया था और उन्हें सूटेबल घोषित करवाने के लिए भ्रष्टाचार किया। परमार ने सीबीआई कोर्ट को धन्यवाद दिया कि उसने उनकी आपत्ति पर ध्यान दिया और जमानत याचिका खारिज की।

गिरफ्तारियां और कोर्ट का निर्णय

नर्सिंग महाघोटाले में अभी तक 13 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। इनमें से चार की जमानत याचिका पहले ही खारिज हो चुकी है। शिकायतकर्ता रवि परमार ने 15 अप्रैल को सीबीआई कार्यालय में मलय नर्सिंग कॉलेज समेत अन्य कॉलेजों की शिकायत की थी। इसके बाद 19 मई को दिल्ली सीबीआई ने 13 आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

इस कार्रवाई से साफ है कि नर्सिंग महाघोटाले में संलिप्त सभी आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की जा रही है और न्यायालय किसी भी प्रकार की ढील देने के मूड में नहीं है।

Related Articles