Featured

FED EXPO 2024 में प्रदेश की एमएसएमई यूनिट्स ने अपनी मैन्युफैक्चरिंग और क्षमताओं का प्रदर्शन किया।

 

गोविंदपुरा इंडस्ट्रियल एरिया स्थित जीआईए एग्जिबिशन सेंटर में फेड एक्सपो 2024 का दूसरे दिन के कार्यक्रम हुए।

 भोपाल । फेडरेशन ऑफ़ एमपी चैंबर्स ऑफ़ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री एवं सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्रालय के तत्वाधान से तीन दिवसीय ‘फेड एक्सपो 2024’ का आज दूसरा दिन सम्पन्न हुआ।  

मध्य प्रदेश में फेडरेशन द्वारा आयोजित फेड एक्सपो 2024 में आज के सत्र में भेल, बीना रिफायनरी (बीपीसीएल), वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे, क्राम्टन ग्रिव्स एवं केएम दस्तूर कंपनी द्वारा अपने उत्पादों एवं वेंडर के संबंध में जानकारी प्रदान की।

भारत इलेक्ट्रीकल लिमिटेड (भेल), भोपाल से पधारे पंकज झा ने अपने प्रेजेन्टेशन में बताया कि भेल 450 करोड़ रूपये का हर साल एमएसएमई सेक्टर से परचेस करता है। पंकज झा ने भेल, भोपाल के कई उत्पादों की लिस्ट शेयर की जिनकी उन्हें ग्लोबल टेंडर करना होता है और इसके लिए उन्हें लोकल वेंडर की आवश्यकता रहती है। जिसमें कई प्रकार के रोटर, माड्यूलर कास्टींग, रिर्टनिंग रिंग इत्यादि शामिल है। इन्होंने बताया कि अभी भेल की कुल इकाईयो के पास कुल 1,35,000 करोड़ के आर्डर है। 

बीना रिफायनरी (बीपीसीएल) से पधारे श्री दुर्गेश शर्मा, कमर्शियर हेड ने अपने उद्बोधन में कहा कि बीना रिफायनरी का नया पेट्रोकेमिकल प्रोजेक्ट प्रारंभ होने जा रहा है जिसमें 45000 करोड़ के निवेश किया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट मे लगने वाले बहुत सारे प्रोडक्ट के बारे में उन्होंने जानकारी दी। साथ ही उन्होने कहा कि प्रदेश की एमएसएमई को उनके प्रोजेक्ट में वेंडर के रूप में कार्य चाहिए। 

वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे से पधारे श्री प्रदीप कुंदलकर जी ने 50 से ज्यादा उत्पादों की लिस्ट शेयर की जिसके लिए उन्हें वेंडर की आवश्यकता होती है। 

क्राम्टन ग्रीव्स के जीएम सुनील केलकर ने अपने उत्पादों की लिस्ट प्रदर्शित की जिसके लिए उन्हें वेंडर की आवश्यकता होती है। इसके साथ ही उन्होंने विडियो प्रेजेन्टेशन के माध्यम से क्राम्टन ग्रीव्स में बनने वाले उत्पादों की जानकारी सभी को दी। 

आज इस कार्यक्रम में शामिल हुए भेल, बीना रिफायनरी (बीपीसीएल), क्राम्पटन ग्रीव, वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे के प्रतिनिधियों ने अपनी समस्या बताते हुए कहा कि उनके जो वर्तमान में वेंडर है वह अधिकांश बाहरी राज्यों से है और मध्यप्रदेश के वेंडर इन अवसरों का उचित लाभ प्राप्त नहीं कर पा रहे है। उन्होंने बताया कि छोटी-छोटी चीजों के लिए भी उन्हें मध्यप्रदेश के बाहर के वेंडरों पर निर्भर रहना पड़ता है।  

बीमा कंपनी केएम दस्तूर के वाईस प्रेसिडेंड श्री राजीव मुतनेजा ने कहा कि उनकी कंपनी लगभग 50 साल से उद्योगों के लिए कार्य कर रही है और वह उद्योगों को उचित दर पर अच्छी से अच्छी बीमा पॉलिसी प्रदान करने का कार्य करते है।

इसके साथ ही सभी कंपनियों ने उनके यहॉं किस प्रकार से वेंडर रजिस्ट्रेशन किये जाने की पूरी प्रक्रिया बताई।

फेडरेशन के अध्यक्ष डॉ. आर.एस. गोस्वामी ने उपस्थित औद्योगिक इकाईयों को संबोधित करते हुए कहा कि इस फेड एक्सपो, बायर-सेलर मीट से प्रदेश की एमएसएमई को बहुत लाभ प्राप्त होगा और यह उनके लिए एक बेहतर मंच साबित होगा। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश की इकाईयों विशेषकर गोविंदपुरा एवं मंडीदीप की औद्योगिक इकाईयों में विकास की अपार संभावनाऐं है और हम देख पा रहे है कि प्रदेश की एंकर यूनिट्स (पीएसयू एवं लार्ज मैन्युफैक्चरिंग कंपनियां) के वेंडर लिस्ट में हमारी भागीदारी कम है जबकि एंकर यूनिट चाहती है कि प्रदेश की एसएमई उनके वेंडर बने, हमें इस अवसर का लाभ उठाना चाहिए और भेल, बीना रिफायनरी (बीपीसीएल), वेस्ट सेन्ट्रल रेलवे, क्राम्पटन ग्रीव्स आदि के साथ ही अन्य एंकर यूनिट्स को भी एप्रोच करना चाहिए।   

कार्यक्रम के अंत में डॉ. आर.एस. गोस्वामी ने उपस्थित सभी बड़ी कंपनियों के प्रतिनिधियों से कहा कि एमएसएमई को किये जाने वाले पेमेंट अगर कंपनी 3-4 दिन में कर दे तो इससे वेंडर को प्रोत्साहन प्राप्त होगा और एमएसएमई अत्यधिक उत्साह और जोश के साथ काम करेगी। 

राजधानी भोपाल के गोविंदपुरा स्थित जीआईए एग्जिबिशन सेंटर में आयोजित इस एक्सपो के दूसरे दिन फेडरेशन के अध्यक्ष डॉ. आर.एस. गोस्वामी एवं उपाध्यक्ष दीपक शर्मा, हिमांशु खरे, विरेन्द्र कुमार पोरवाल एवं गोविंदपुरा इंडस्ट्री एसोसिएशन के अध्यक्ष विजय गौर, अशोक पटेल, योगेश गोयल आदि उद्योगपति उपस्थित थे। 

कल 21 जनवरी 2024 के सेशन में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, सीआयएई सिडबी से श्री कपिल वासे, आर्मी वेलफेयर बोर्ड से कर्नल तिवारी जी अपना प्रेजेन्टेशन देगे। 

Related Articles

Back to top button