Featured

मिजोरम की सबसे कम उम्र की महिला विधायक बनी

आईजोल । पूर्वोत्तर राज्य में हालिया विधानसभा चुनाव में जीत के बाद पूर्व रेडियो जॉकी बेरिल वन्नेइहसांगी मिजोरम की सबसे कम उम्र की महिला विधायक बनी हैं। जोरम पीपुल्स मूवमेंट (जेडपीएम) के टिकट पर चुनाव लड़कर 32 वर्षीय बेरिल ने आइजोल दक्षिण-तृतीय निर्वाचन क्षेत्र से 1,414 वोटों के अंतर से जीत हासिल की। जेडपीएम ने मिजोरम में 40 में से 27 सीटें जीतकर चुनाव में जीत हासिल की। एमएनएफ केवल 10 सीटें ही जीत सकी। 1987 में मिजोरम के गठन के बाद यह पहली बार होगा कि कांग्रेस या एमएनएफ के अलावा कोई राजनीतिक दल सत्ता में आएगा। वन्नेइहसांगी ने 9,370 वोट हासिल करके मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) के अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी एफ लालनुनमाविया को हराया। विधानसभा चुनाव में दो अन्य महिला उम्मीदवार विजयी हुईं। जेडपीएम का प्रतिनिधित्व करने वाली लालरिनपुई और मिजो नेशनल फ्रंट (एमएनएफ) की प्रोवा चकमा ने चुनाव में जीत हासिल की। मौजूदा मिजोरम विधानसभा में कोई भी महिला विधान सभा सदस्य (एमएलए) नहीं थी।

चुनाव परिणामों की घोषणा के बाद, पूर्व आरजे ने महिलाओं को अपने जुनून को आगे बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया। वन्नेहसांगी ने बताया, मैं बस सभी महिलाओं को बताना चाहती हूं कि हमारा जेंडर हमें वह सब कुछ करने से नहीं रोकता है जो हम पसंद करते हैं और करना चाहते हैं। उन्होंने सभी बैकग्राउंड की महिलाओं को बिना किसी हिचकिचाहट के अपने हितों के लिए आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया। वन्नेइहसांगी को इससे पहले 2021 में हुए आइजोल नगर निगम (एएमसी) चुनावों में कॉर्पोरेटर के रूप में चुना गया था। उन्होंने शिलांग में नॉर्थ ईस्टर्न हिल यूनिवर्सिटी से आर्ट में मास्टर्स किया है। 40 विधानसभा सीटों के लिए कुल 174 उम्मीदवार मैदान में थे। भारतीय जनता पार्टी को दो सीटें मिलीं, जबकि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस केवल एक सीट जीतने में सफल रही।

Related Articles

Back to top button