Featured

मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड ने भारतीय अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) में की सहभागिता

फिल्मी सेट की तरह आकर्षक है चंदेरी शहर : पंकज त्रिपाठी

प्रमुख सचिव ने फिल्म एवं वेबसीरिज इंडस्ट्री से जुड़े हितधारकों को फिल्म शूटिंग के लिए किया आमंत्रित

भोपाल । मध्यप्रदेश में अपने शूटिंग अनुभव साझा करते हुए मशहूर कलाकार पंकज त्रिपाठी ने कहा कि लगता है जैसे चंदेरी शहर को 400-500 साल पहले फिल्म शूटिंग के उद्देश्य से ही बनाई गया हो। सब कुछ एक आकर्षक फिल्म सेट की तरह बनाया गया है, जहां लोग रहते हैं। सुंदर आर्किटेक और अच्छे लोग। काफी आत्मीय स्वागत होता है और आनंद आता है। उन्होंने फिल्म शूटिंग प्रणाली और व्यवस्थाओं को सहज बनाने के लिए पर्यटन और संस्कृति प्रमुख सचिव शिव शेखर शुक्ला को धन्यवाद भी दिया। पंकज त्रिपाठी चंदेरी में स्त्री, सुई धागा, जनहित में जारी नामक फिल्म कर चुके है।

अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के दौरान प्रमुख सचिव श्री शुक्ला ने पंकज त्रिपाठी, राज कुमार संतोषी, विजय सेतुपति, दिव्या दत्ता सहित कई अन्य प्रसिद्ध बॉलीवुड कलाकारों, फिल्मकारों, निर्माता-निर्देशकों से मुलाकात कर प्रदेश में फिल्म निर्माण के लिए आमंत्रित किया। श्री शुक्ला ने मध्य प्रदेश की फिल्म नीति के प्रमुख बिंदुओं पर प्रकाश डाला, जिसमें फिल्म एवं वेब सीरीज निर्माताओं के लिए एक अनुकूल माहौल विकसित करने के उद्देश्य से बनाई गई नीति, वित्तीय प्रोत्साहन, अनुमतियों में आसानी एवं पारदर्शिता, प्राकृतिक सौंदर्य, बेहतर कनेक्टिविटी, अनुकूल मौसम और अत्याधुनिक फिल्मांकन सुविधाओं इत्यादि शामिल है। फ़िल्म आधारभूत संरचना एवं रोजगार निर्माण भी प्रमुख उददेश्य है। टूरिज्म बोर्ड के डिप्टी डायरेक्टर (फिल्म्स) श्री युवराज पडोले ने आयोजन में मौजूद हितधारकों को फ़िल्म टूरिज्म पालिसी की जानकारी प्रेजेंटेशन के माध्यम से दी। 

उल्लेखनीय है कि हर वर्ष ही भांति इस वर्ष भी ,मध्य प्रदेश टूरिज्म बोर्ड ने गोवा में चल रहे 54वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) में भाग लिया। बोर्ड ने फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े हितधारकों को प्रदेश में फिल्म शूटिंग के लिए प्रोत्साहित करने और फिल्म टूरिज्म पॉलिसी के तहत दी जाने वाली सुविधाओं, रियायतों से अवगत कराने हेतु “मध्य प्रदेश में फिल्म निर्माण को बढ़ावा देना- शासन की पहल और हितधारकों की भूमिका” विषय पर एक नॉलेज सीरीज भी आयोजित की। इसमें मुख्य वक्ता के रूप में प्रमुख सचिव, पर्यटन एवं संस्कृति विभाग और प्रबंध संचालक, मध्य प्रदेश टूरिज्म बोर्ड श्री शिव शेखर शुक्ला, एक्टर पंकज त्रिपाठी, एक्ट्रेस, प्रोड्युसर, सीबीएफसी बोर्ड सदस्य सुश्री वाणी त्रिपाठी, फिल्म निर्माता एवं लेखक अमित राय शामिल हुए। मॉडरेटर निर्माता धीर मोमाया रहें।

*मध्यप्रदेश फिल्म पॉलिसी की खास बातें*

– फिल्म परियोजनाओं की अनुमतियां लोक सेवा गारंटी अधिनियम में शामिल है। 15 कामकाजी दिवसों में फिल्म शूटिंग की अनुमति का प्रावधान है। 

– जिला स्तर पर फिल्म पर्य़टन नीति क्रियान्वित करने के लिए प्रत्येक जिले में ADM स्तर के अधिकारी को फिल्मांकन अनुमति हेतु नोडल अधिकारी नियुक्त हैं।

– अनुदान में वेब सीरीज, OTT ओरिजिनल कंटेंट, टीवी सीरियल एवं डॉक्युमेंट्री को शामिल किया है।

– सभी फिल्मांकन अनुमतियों के लिए सिंगल विंडो क्लीयरेंस की सुविधा है। 

– स्थानीय कलाकारों हेतु अतिरिक्त वित्तीय अनुदान उपलब्ध हैं एवं फिल्म क्रू का शूटिंग हेतु पर्यटन विभाग के होटल एवं रिसॉर्ट में ठहरने पर छूट का प्रावधान है।

Related Articles

Back to top button