politics

Jhabua :शिवराज को माफी यात्रा निकालनी चाहिए : कमलनाथ

आदिवासी स्वाभिमान यात्रा का हुआ समापन

Jhabua: झाबुआ में आदिवासी स्वाभिमान यात्रा के समापन अवसर पीसीसी अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी शिरकत की। इस दौरान उन्होंने भाजपा पर जमकर निशाना साधा। आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने केंद्रीय नेताओं से झूठ बुलवाते हैं। मैं तो कहता हूं कि इन्हें माफी यात्रा निकालनी चाहिए। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सोमवार को कहा कि चुनाव में चार महीने बचे हैं। समेटने की राजनीति चल रही है। जितना समेट सकते हो, समेट लो। 18 वर्षों के बाद शिवराज जी को लाड़ली बहनों की याद आई। संविदा कर्मी, ठेका श्रमिक, आशा, उषा बहनों की याद आई। नौजवानों की याद आई। शिवराज अपने 18 वर्षों के पापों को चुनावी समय में धोना चाहते हैं लेकिन प्रदेश की जनता बेहद समझदार है।
उन्होंने झाबुआ में आदिवासी स्वाभिमान यात्रा के समापन अवसर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि आज मध्य प्रदेश आदिवासी अत्याचारों में नंबर एक है। कई अपराध अखबारों के माध्यम से सामने आ जाते हैं, जबकि कई ऐसे भी हैं जो जनता के सामने नहीं आ पाते। नेमावर की घटना हो, नीमच, खरगोन या सीधी की घटना हो या प्रदेश को शर्मसार कर देने वाली अन्य घटनाएं, आज प्रदेश में कानून-व्यवस्था पूरी तरह ठप है। कमलनाथ ने कहा कि मध्य प्रदेश भाजपा और शिवराज सरकार विकास पर्व मना रही है। तरह-तरह की यात्राएं निकाल रही हैं। मैं तो कहता हूं कि इन्हें माफी यात्रा निकालनी चाहिए। हिसाब यात्रा निकालनी चाहिए। प्रदेश की जनता को अपने 18 वर्षों का हिसाब देना चाहिए।
केंद्रीय नेताओं से झूठ बुलवाते हैं शिवराज
कमलनाथ ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने केंद्रीय नेताओं से झूठ बुलवाते हैं। अमित शाह जी छिंदवाड़ा भी आए थे। उन्हें एक लिस्ट दी गई, जिसमें सब झूठी बातें थी। वही उनके माध्यम से जनता के सामने आईं। सीधी, सिंगरौली में आदिवासियों के साथ अत्याचार हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं अमित शाह जी विंध्य में तीन सभाएं कर चुके हैं। आदिवासी वर्ग को जोडऩे की तमाम कोशिशें कर रहे हैं। उसके बाद भी हमारे आदिवासी भाइयों के साथ ऐसी घटना हो रही है जो बहुत शर्मनाक है। प्रदेश की जनता चुनाव में बताएगी कि वह किसके साथ है।
छिंदवाड़ा में अब प्रदीप मिश्रा भी आएंगे
कमलनाथ ने कहा कि छिंदवाड़ा में बागेश्वर धाम के धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री के श्रीमुख से राम कथा का आयोजन किया जा रहा है। मैंने देश के विभिन्न जगहों पर धार्मिक आयोजन देखे हैं। इतना भव्य आयोजन जिसमें लगभग आठ लाख भक्तों ने कथा का पुण्य लाभ लिया हो ऐसा कार्यक्रम कभी नहीं देखा। अभी-अभी पता चला है कि अगले महीने पंडित प्रदीप मिश्रा भी आ रहे हैं, उनका भी हम स्वागत करेंगे। भारत में 82प्रतिशत हिंदू रहते हैं तो यह कौन-सा राष्ट्र है? हमारा मुकाबला तो सांप्रदायिक ताकतों से है और हमें गर्व है हम सेकुलर हैं। जो हमारे संविधान में लिखा हुआ है हमारी पहचान वही है।
राहुल की संसद सदस्यता बहाली में हुई देरी
कमलनाथ ने आरोप लगाया कि राहुल गांधी की संसद सदस्यता बहाल करने के नोटिफिकेशन को जारी करने में देरी हुई है। उन्होंने कहा कि मैं कई वर्षों तक केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री रहा हूं। सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का तो हम स्वागत करते हैं लेकिन लोकसभा को इस पर नोटिफिकेशन को दो दिन पहले जारी कर देना चाहिए था।
मणिपुर को लेकर कहा- भाजपा देती है हिंसा को प्रोत्साहन
कमलनाथ ने कहा कि आज से डेढ़ महीने पहले मैंने मणिपुर के बारे में भोपाल प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोला था कि मणिपुर एवं अन्य जगहों पर हिंसा के बीज बोए जा रहे हैं। आज 90 दिन हो गए आर्मी सीआरपीएफ सीआईएसएफ होने के बावजूद भी मणिपुर में हिंसा शांत नहीं हो रही भारतीय जनता पार्टी देशभर में अपने राजनीतिक लाभ के लिए हिंसा को प्रोत्साहन देने का कार्य कर रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button