BusinessNational

संकट में बायजू, 120 करोड़ डॉलर के टर्म लोन पर नहीं बनी बात

बायजूस ने नवंबर 2021 में विदेशी निवेशकों से 120 करोड़ डॉलर का कर्ज जुटाया था
New dehli : देश की सबसे अधिक वैल्यू वाली स्टार्टअप बायजूस के आगे की डगर एक बार फिर अनिश्चित हो गई है। बायजूस और इसके कर्जदार 120 करोड़ डॉलर के टर्म लोन पर अभी तक किसी मुद्दे पर बात नहीं बनी है। इसके लिए 3 अगस्त तक का समय तय किया गया था लेकिन अब यह तारीख भी बीत गई और अब आगे कब तक इस पर कोई बात बनेगी, इसे लेकर कुछ तय नहीं है। सूत्रों ने बताया कि बातचीत सही दिशा में आगे बढ़ रही है लेकिन अभी तक कोई नतीजा नहीं निकला है। एडटेक कंपनी के प्रवक्ता का कहना है कि बायजूस ऐसी किसी टाइमलाइन को लेकर प्रतिबद्ध नहीं थी। अगले हफ्ते बायूजस के को-फाउंडर बायजू रवींद्रन की अगले हफ्ते लेंडर्स के साथ बैठक है और दोनों ही पक्षों को उम्मीद है कि कोई नतीजा निकल जाएगा। एडहॉक टर्म लोन लेंजर्स की कमेटी ने औपचारिक रूप से 24 अगस्त को इस टाइमलाइन का ऐलान किया था कि 3 अगस्त तक लोन से जुड़ी शर्तों में बदलाव पर बात बन जाएगी। इस कमेटी में शामिल लेंडर्स ने बायजूस पर जो 120 करोड़ डॉलर का जो टर्म लोन है, उसका 85 फीसदी दिया हुआ है। कमेटी ने कहा था कि 3 अगस्त 2023 से पहले तक टर्म लोन एमेंडमेंट पर बात बन जाएगी। इससे लोन को लेकर सारे विवाद खत्म होने की उम्मीद जताई गई थी।
बायजूस ने नवंबर 2021 में टर्म लोन बी के जरिए विदेशी निवेशकों से 120 करोड़ डॉलर का कर्ज जुटाया था। टर्म लोन बी आम लोन से इस मामले में अलग है कि इसमें किश्तें नहीं चुकानी होती है और लोन पीरियड की समाप्ति पर पूरा पैसा चुकाना होता है। लोन पीरियड के दौरान मामूली रेट पर कुछ पैसा देना पड़ सकता है। अब बायजूस के मामले में ऐसा हुआ कि पिछले साल दिसंबर 2022 से कंपनी और लेंडर्स के बीच विवाद हो गया और इस साल मार्च में लेंडर्स ने नॉन-मॉनीटरी और टेक्निकल डिफॉल्ट्स के आरोप में पैसे मांगना शुरू कर दिया। मई में लेंडर्स ने बायजूस के पूर्ण मालिकाना हक वाली अल्फा के खिलाफ डेलवेयर कोर्ट में इस आरोप में मामला कर्ज कर दिया कि इसने लेंडर्स से 50 करोड़ डॉलर छिपाया है। इसके कुछ ही हफ्ते बाद बायजूस ने भी न्यूयॉर्क सुप्रीम कोर्ट में लेंडर्स के खिलाफ याचिका दायर कर दिया और लोन चुकाने को लेकर चुनौती दे दी। बायजूस ने 4 करोड़ डॉलर का ब्याज भी चुकाना बंद कर दिया जो लोन पेमेंट शुरू होने के चलते ड्यू था। उसके बाद से दोनों पार्टियों के बीच टर्म लोन के नियमों में बदलाव को लेकर बातचीत हो रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button