Madhya Pradeshpolitics

पटवारी भर्ती घोटाले के विरोध में पैदल पदयात्रा इंदौर से भोपाल पहुंची

छात्र सत्याग्रह पदयात्रा को पुलिस ने लालघाटी पर बैरिकेड लगाकर रोका छात्रो की पुलिस से झड़प

NSUI के नेतृत्व में इंदौर से भोपाल तक निकाली जा रही छात्र सत्याग्रह पदयात्रा का भोपाल में हुआ समापन

छात्र नेताओं ने मुख्यमंत्री निवास पर ज्ञापन सौंपा

Bhopal : मध्यप्रदेश में लगातार गिरते शिक्षा के स्तर नई शिक्षा नीति की विफलता एवं पटवारी भर्ती परीक्षा में हुई धांधली और प्रदेश के छात्रो की समस्याओं को लेकर इंदौर से NSUI नेता अमन पटवारी और यश यादव के नेतृत्व में 1 अगस्त को छात्र सत्याग्रह पदयात्रा प्रारंभ कि थी जो आज भोपाल पहुंची इंदौर से भोपाल के बीच में जगह जगह NSUI कार्यकर्ताओं ने पदयात्रा का जोरदार स्वागत किया।

एनएसयूआई नेता रवि परमार ने बताया कि जब छात्र सत्याग्रह पदयात्रा रविवार को भोपाल पहुंची तो पुलिस प्रशासन ने लालघाटी चौराहे के पास बैरिकेड लगाकर रोक दिया उसके बाद सभी छात्रो को हिरासत में लिया गया लेकिन जब हंगामा बढ़ा तो पुलिस प्रशासन ने एक प्रतिनिधि मंडल को मुख्यमंत्री निवास पर ज्ञापन देने की व्यवस्था की और लेकर मुख्यमंत्री निवास गए एनएसयूआई के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री निवास पहुंच कर सचिव को ज्ञापन सौंपा।

तत्पश्चात मध्यप्रदेश युवा कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने पदयात्रा के संयोजक कुणाल पटवारी और पदयात्रा का नेतृत्वकर्ता अमन पटवारी को पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी से मुलाकात करवाई कुणाल पटवारी , अमन पटवारी और छात्र सत्याग्रह पदयात्रा में शामिल हुए सभी लोगों ने पूर्व मुख्यमंत्री को नई शिक्षा नीति से छात्र छात्राओं को आ रही समस्याओं और मध्यप्रदेश में हुए पटवारी भर्ती घोटाले को लेकर तथ्यों के साथ अवगत करवाया ।

यात्रा के संयोजक कुणाल पटवारी ने कहा कि मध्यप्रदेश में हर साल विद्यार्थियो को समय पर स्कॉलरशिप नहीं मिलती इसके साथ-साथ हर साल किसी न किसी कोर्स के पेपर लीक होने की घटनाएं सामने आती हैं और समय पर नियमित परीक्षाएं आयोजित नहीं होती हैं, जिसकी वजह से मेहनत करने वाले विद्यार्थियो का मनोबल कम होता हैं, और सरकारी कॉलेजों में जो सुविधाएं विद्यार्थियो को मिलनी चाहिए वे नहीं मिल पाती ‌जोकि छात्र छात्राओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ हैं

छात्र सत्याग्रह पदयात्रा का नेतृत्व कर रहे अमन पटवारी ने कहा कि इस पदयात्रा का मकसद ईमानदारी से पढ़ाई करने वाले विद्यार्थियो को न्याय दिलाना और प्रदेश की उच्च शिक्षा व्यवस्था में सुधार करवाना होगा साथ ही साथ पदयात्रा के माध्यम से छात्रों को अपने हकों और अधिकारों के लिए आवाज़ उठाने के लिए जाग्रत करेगी ।

छात्र सत्याग्रह पदयात्रा में मुख्य रूप से इंदौर एनएसयूआई जिला अध्यक्ष रजत पटेल गौलू चंदेरी यश यादव शुभम् दरबार शान्तनु लहिया सोहन मेवाड़ा अमित पटेल अजय जाट राजवीर सिंह सिद्धांत आचार्य मयंक शिवहरे तनय अग्रवाल और सैकड़ों कार्यकर्ता शामिल थे ।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button