Featured

आई ए एस ऑफिसर्स वाइव्स एसोसिएशन द्वारा स्वास्थ्य शिविर में 230 हितग्राहियों को दी गई उपचार की सुविधा,

 198 लोगों की बनी आभा आईडी

,भोपाल । आई ए एस ऑफिसर्स वाइव्स एसोसिएशन की पहल पर आयोजित स्वास्थ्य शिविर में चर्म रोग ,मानसिक स्वास्थ्य ,प्रसूति एवं स्त्री रोग , नेत्र रोग विशेषज्ञों द्वारा परामर्श दिया गया। शिविर में उच्च रक्तचाप, मधुमेह एवं अन्य संचारी व असंचारी रोगों की जांच कर 230 हितग्राहियों को परामर्श एवं उपचार दिया गया। 

शिविर में आई ए एस ऑफिसर्स वाइव्स एसोसिएशन के प्रयासों से 198 आभा आई डी और 15 आयुष्मान कार्ड बनाए गए। साथ ही 48 आयुष्मान ईकेवायसी की गई। शिविर में बनाए गए 63 नए आयुष्मान कार्ड के हितग्राहियों को आयुष्मान भारत निरामयम योजना के तहत निशुल्क उपचार की सुविधा मिल सकेगी। शिविर में 97 हितग्राहियों में उच्च रक्तचाप एवं 63 में रक्त शर्करा (ब्लड शुगर) बढ़ी पाई गई। जिनका नियमित फॉलोअप कर उपचार किया जावेगा । नेत्र विशेषज्ञों द्वारा 164 हितग्राहियों की आंखों की जांच की गई । जांच में 5 मोतियाबिंद के लक्षण मिले हैं, जिनकी निशुल्क कैट्रेक्ट सर्जरी करवाई जावेगी । 76 लोगों में दृष्टिदोष पाए जाने पर शिविर में निशुल्क चश्मे प्रदान किए गए । 

स्वास्थ्य शिविर में चर्मरोग विशेषज्ञ द्वारा 38 लोगों को त्वचा संबंधी समस्याओं का उपचार दिया गया। शिविर में मानसिक रोग परामर्श के दौरान 9 लोगों में तनाव, डिप्रेशन, नींद न आना जैसी समस्याओं की पहचान की गई।  

शिविर में क्षयरोग हेतु 38 मरीजों की जांच की गई । जिनमें से 11 लोगों का स्पूटम कलेक्ट कर जांच के लिए भेजा गया है। स्त्री रोग विशेषज्ञ द्वारा 96 महिलाओं की जांच कर परामर्श एवं उपचार दिया गया। एक महिला को वीआईए जांच के लिए रेफर किया गया है । शिविर में नेशनल वेक्टर बोर्न डिजीज कंट्रोल प्रोग्राम( मलेरिया, डेंगू एवं चिकनगुनिया) के तहत साफ सफाई , मच्छरदानी के उपयोग, गैंबुशिया मछली के उपयोग की जानकारी दी गई ।

 शिविर में चिकित्सकीय परामर्श अनुसार सीबीसी ,आरबीएस,आरएफटी,एचबीएवनसी,लिपिड प्रोफाइल,एल एफ टी,आर ए फैक्टर, थायराइड, विटामिन डी , बी 12 इत्यादि जांचें निशुल्क की गई। साथ ही परामर्श, उपचार एवं दवाएं भी निशुल्क दी गईं।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी भोपाल डॉ प्रभाकर तिवारी ने बताया कि भोपाल के विभिन्न सामाजिक मेलजोल वाले क्षेत्रों जैसे सार्वजनिक कार्यालयों, मेलों, सांस्कृतिक आयोजनों में स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन किया जा रहा है। जिससे एक ही स्थान पर अधिक से अधिक लोग स्वास्थ्य सेवाओं से लाभान्वित हो सके। विकसित भारत संकल्प यात्रा, भोपाल उत्सव मेला, भोजपाल मेला, कचरा संग्राहकों, रैन बसेरों सहित कई क्षेत्रों में स्वास्थ्य शिविरों द्वारा आमजन तक पहुंच कर स्वास्थ्य सेवाएं दी गई है।

Related Articles

Back to top button