Featured

रिटायर्ड अफसर से एचडीएफसी बैंक के एग्जीक्यूटिव ने की 33 लाख की ठगी

भोपाल। अशोका गार्डन पुलिस ने रिटायर्ड के एक रिटायर्ड अधिकारी की शिकायत पर एचडीएफसी बैंक के एग्जीक्यूटिव के खिलाफ लाखो की ठगी किये जाने का मामला कायम किया है। आरोपी ने फरियादी से एफडी के लिये लिये गये लाखो की रकम के चैक का पैसा अपने परिवार और रिश्तेदारो के खातो में ट्रांसफर करवा दी। पूलिस से मिली जानकारी के मुताबिक मयूर विहार कॉलोनी आशोका गार्डन में रहने वाले अब्दुल सत्तार ने लिखित शिकायती आवेदन देते हुए बताया था की वह रेलवे के तकनीकि विभाग से रिटायर्ड हैं। सेवानिवृत्त के बाद उन्हें विभाग से 52 लाख रुपए मिले थे। उनके जिस एकांउट में यह रकम जमा हुई थी, वह बैंक पुराने शहर में है। इस कारण वह अपने घर के किसी नजदीकी बैंक में नया खाता खुलवाने के साथ ही रिटायरमेंट में मिली रकम का बड़ा हिस्सा एफडी के रुप में जमा करना चाहते थे। जुलाई 2021 में वह अशोका गार्डन मेन रोड पर स्थित एचडीएफसी बैंक पहुंचे जहॉ उनकी मुलाकात बैंक के एग्जीक्यूटिव शुभम गुप्ता से हुई। सारी बातचीत के बाद एग्जीक्यूटिव शुभम गुप्ता ने उनका बचत और चालू खाता बैंक में खुलावाते हुए अब्दुल सत्तर से कागजी कार्रवाही पूरी करवाई और उनसे एक ब्लेंक चेक ले लिया। आरोप है कि शुभम ने इस ब्लैंक चैक के जरिये अपने भाई ऋषभ गुप्ता, मां सुधा गुप्ता और अपने दोस्त महेशचंद्र गुप्ता के खाते में 23 लाख रुपए बिना बताए ट्रांसफर कर दिए। इतना ही नहीं शुभम ने बाकी की रकम में से चेक के जरिए 4 लाख खुद निकाले और 4 लाख रुपए अपने क्रेडिट कार्ड में जमा कर दिए। बाद में फरियादी के घर पर क्रेडिट कार्ड कंपनी की ओर से 5 लाख से अधिक रकम की वसूली का बिल पहुंचा तो वह हैरान रह गये। जानकारी जुटाने पर उन्हें अपने साथ हुई ठगी का पता चला तब। फरियादी ने पहले बैंक प्रबंधन से इसकी शिकायत की जिसके बाद बैंक प्रबंधन ने आरोपी शुभम गुप्ता को नौकरी से निकाल दिया था। वहीं शिकायत मिलने पर जांच के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी, अमानत में खयानत सहित साजिश रचने का प्ररकण दर्ज कर लिया है।

Related Articles

Back to top button