Featured

इलाज के बहाने युवती को बंधक बनाकर रेप करने वाला हमीदिया का डॉक्टर फरार, दोनो मोबाइल स्विच ऑफ

प्रबंधन जल्द कर सकता है फरार डॉक्टर के निलंबन की कार्यवाही, गिरफ्तारी के लिये उड़ीसा जायेगी पुलिस टीम

भोपाल। इलाज के बहाने छिंदवाड़ा की युवती को भोपाल बुलाकर उसे अपने फ्लैट में बंधक बनाते हुए कई बार दुष्कर्म करने वाले आरोपी फरार डाक्टर की गिरफ्तारी के लिये पुलिस टीम लगातार उसकी तलाश कर रही है। सूत्रो की मानी जाये तो आरोपी डॉक्टर सर्जन दीपक नायक हॉस्पिटल और अपने फ्लैट से फरार हो गया है, साथ ही पुलिस से बचने के लिये उसने अपने दोनो मोबाइल भी स्विच ऑफ कर लिये है। फरार आरोपी डॉक्टर अपनी दोनो गाड़ियॉ भी हमीदिया अस्पताल में ही छोड़कर भाग गया है। उसकी तलाश में हमीदिया पहुंची पुलिस टीम ने दोनो गाड़ियो को फिलहाल अस्पताल की पार्किंग मे ही खड़ा करवाया है, जिन्हें बाद में जप्त किया जा सकता है। वहीं मामले के तूल पकड़ने के बाद अब जीएमसी प्रंबधन फरार डॉक्टर के खिलाफ निंलबन की कार्यवाही की तैयारी में है, और जल्द ही उसे संस्पैंड किया जा सकता है। राजधानी में उसके संभावित ठिकानो पर दबिश देने पर भी वो पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सका है। अब पुलिस टीम जल्द ही उसकी तलाश में उसके गृह नगर उड़ीसा भेजी जायेगी। पूरे मामले में पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मूल रुप से छिंदवाड़ा की रहने वाली 19 वर्षीय युवती ने अपनी शिकायत में बताया की वह छिंदवाड़ा जिले की रहने वाली है, उसके माता-पिता नहीं हैं। करीब तीन महिने पहले वह अपने गले की बीमारी के चलते इलाज के लिये भोपाल के कोहेफिजा इलाके में स्थित हमीदिया अस्पताल आई थी। यहां पर सर्जन डॉक्टर दीपक नायक ने उसका इलाज किया। इस दौरान डॉक्टर ने उससे बातचीत करते हुए अपनापन जताया और उसका फोन नंबर ले लिया। इलाज कराने के बाद युवती वापस छिंदवाड़ा चली गई थी। उसके जाने के बाद भी डॉक्टर उससे फोने पर बातचीत करता रहता था। पंद्रह दिन पहले डॉक्टर ने युवती को फोन कर कहा की उसकी जॉच रिपोर्ट आ गई है, जिसे वह भोपाल आकर ले ले। इसके बाद 15 अक्टूबर को युवती रिपोर्ट लेने के लिए भोपाल आ गई। हमीदिया अस्पताल पहुंचने पर डॉक्टर दीपक नायक ने उसे रिपोर्ट देने के साथ ही बहाना बनाते हुए कहा कि बीमारी पूरी तरह ठीक करने के लिये उसे आगे भी इलाज कराना होगा और कुछ दिन भोपाल में रुकना पड़ेगा। यूवती ने जब उसे अपने अकेले होने और भोपाल में किसी के भी जान पहचान का न होने की बात बताई तब डॉक्टर दीपक उसे बहाने से लालघाटी इलाके में स्थित गेवलएक्ट सोसायटी में स्थित अपने फ्लैट पर ले गया और उससे हमदर्दी जताते हुए इलाज होने तक वहीं ठहरने को कहा। आरोपी डॉक्टर उड़ीसा का रहने वाला है, और विवाहित है, उसका एक बच्चा भी है, इन दिनों उसकी पत्नी उड़ीसा स्थित अपने मायके गई हुई है। फ्लैट पर ठहराने के बाद आरोपी ने युवती के साथ कई दिनो तक दुष्कर्म किया। ड्यूटी जाते समय वह फ्लैट के दरवाजे पर बाहर से ताला लगाता और युवती को कमरे में बंद कर जाता था। चार दिन पहले मौका पाकर यवुती किसी तहर डॉक्टर के चुंगल से निकलकर महिला थाने पहुंची और सारी बात बताई। पुलिस ने युवती की शिकायत पर डॉक्टर दीपक यादव के खिलाफ बलात्कार का प्रकरण दर्ज किया है। लेकिन एफआईआर दर्ज होने की भनक लगते ही आरोपी डॉक्टर गायब हो गया है।

Related Articles

Back to top button