Featured

अतिथि शिक्षक ने फांसी लगाई,, सुसाइड नोट में लगाये दो शिक्षकों पर लगाये प्रताड़ित करने के आरोप

भोपाल। राजधानी के नजदीक गुनगा थाना इलाके में रहने वाले एक अतिथि शिक्षक द्वारा फांसी लगाकर आत्हत्या किये जाने की घटना प्रकाश में आई है। मृतक इलाके में स्थित हर्राखेड़ा स्कूल में अतिथि शिक्षक के पद पर पदस्थ था। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस को घटनास्थल की पड़तला के दौरान एक सुसाइड नोट मिला है। इस नोट में मृतक ने स्कूल के प्राचार्य सहित दो अन्य शिक्षकों पर प्रताड़ित करने के आरोप लगाने के साथ ही तीन माह से वेतन नहीं मिलने की बात भी लिखी है। थाना पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मूल रुप से ईसागढ़, जिला अशोकनगर का रहने वाला 23 वर्षीय आकाश पुत्र बलराम यादव हर्राखेड़ा स्थित शासकीय स्कूल में अतिथि शिक्षक था। आकाश हर्राखेड़ा में ही अरविंद भार्गव के मकान में किराए का कमरा लेकर रह रहा था। शनिवार सुबह वह स्कूल नहीं आया तब उसके साथी शिक्षक उसे देखने के लिये उसके कमरे पर गये तो उन्हें कमरे का दरवाजा भीतर से बंद मिला। काफी प्रयासो के बाद भी जब दरवाजा नहीं खुला तब उन्होनें जैसै-तैसै खिड़की से भीतर झांका तो उन्हें आकाश का शरीर फांसी के फंदे पर लटका नजर आया। इसके बाद मकान मालिक और पुलिस को सूचना दी गई। घटनास्थल पर पहुंची टीम को तलाशी के दौरान एक सुसाइड नोट मिला है। इसमें मृतक ने स्कूल के प्रचार्य प्रकाश विजयवर्गीय और शिक्षक नरेंद्र दुबे एवं छगनलाल साहू द्वारा उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया गया है। साथ ही लिखा है, कि उसकी उपस्थिति भी पोर्टल पर दर्ज नहीं की जा रही है, जिसके कारण उसे तीन माह से वेतन भी नहीं मिला है। इन लोगों से परेशान होकर ही वह इस तरह का कदम उठा रहा है। पुलिस ने मर्ग कायम कर हादसे की सूचना मृतक के परिवार वालो को देते हुए शव पीएम के लिये भेज दिया। अधिकारियो का कहना है कि सुसाइड नोट को जॉच के लिये भेजा जायेगा, साथ ही उसमें लगाये गये आरोपो के आधार पर आगे की छानबीन की जा रही है। जॉच पूरी होने पर उसके आधार पर आगे की कार्यवाही की जायेगी।

Related Articles

Back to top button