Featured

धड़ल्ले से शहर में काटे जा रहे हैं हरे भरे पेड़, प्रशासन मौन

पेड़ों की जान ले रहा है हमीदिया अस्पताल

भोपाल । राजधानिब्मे शासकीय विभागों सहित कई निजी क्षेत्रों में पेड़ों की कटाई धड़ल्ले से की जा रही है। उसके बाद भी प्रशासन शांत जय इन पेड़ों की कटाई से जहां पर्यावरण प्रेमी नाराज हैं वहीं शहर के वातावरण को भी नुकसान पहुंचाया जा रहा है। 

जहां दुनिया प्रयावर परिवर्तन को लेकर चिंतित है वहीं पेड़ों की कटाई लगातार जारी है। यही वह पेड़ हैं को हमें ऑक्सीजन प्रदान करते हैं। वातावरण को प्रदीसन से मुक्त रखने में बड़ा योगदान रहता है। लेकिन कुछ लोग निजी स्वार्थ को लेकर वर्षों पुराने वृक्षों को काटने से बाज नहीं आ रहे हैं। शनिवार को जिस दिन पीपल को शास्त्रों अनुसार जल चढ़ाने को महत्व दिया जाता है वहीं शनिवार 20 जनवरी को वार्ड नंबर 55 जोन नंबर 13. बाग मुगालिया एक्सटेंशन कॉलोनी में आम्रपाली मार्केट में दुकानदार बृजेश पाल द्वारा पीपल का बहुत मोटा पेड़ छंटाई के नाम पर काट दिया गया है । उक्त पेड़ की हमारे सनातन में और वैज्ञानिक तौर पर महत्वपूर्ण भूमिका रहती है । यह सबसे अधिक ऑक्सीजन देने वाला वृक्ष है। दूसरी ओर हमीदिया अस्पताल के आसपास पार्किंग में पेड़ों पर कील ठोक कर विज्ञापन हो रहा है । जो को पेड़ों को हानि पहुंचा रहे हैं । इन विज्ञापन प्रदर्शित करने वालों पर हमीदिया अस्पताल प्रबंधन ने कभी कोई कार्यवाही नहीं की। नहीं नगर निगम ने इनसे कोई अर्थ दंड वसूल किया। 

टी आई टी कॉलेज के पास काटे पेड़

 भोपाल टी आई टी कालेज के आगे मुबारक डेरी के सामने मुबारक खान द्वारा 6 पेड़ काटे गए है। बताया जाता है कि निगम के कुछ कर्मचारी इस मामलेवको लेकर्वकार्या गए थे जिन्हे मुबारक खान द्वारा धमकी दी गई। जिससे निगम कर्मचारी कार्यवाही नहीं कर सके हैं । 

विश्व विद्यालय परिसर में गंदगी का अंबार

बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के बाउंड्री के अंदर चारों । तरफ कचरे का ढेर लगा हुआ है । वार्ड नंबर 54 जॉन नंबर 13 में यह क्षेत्र आता है ।जबकि इन हालातों में भोपाल देश में स्वच्छता के मैनलमे देश में पांचवा स्थान मिला है। इतनी गांधी होने के बाद भी भोपाल 5 स्टार में कैसे आ गया यह समझ से परे है। स्वच्छता सर्वे की टीम कहां है ए सी कमरों में बैठकर शायद रिजल्ट दिए जाते हैं इसलिए भोपाल पूरा गंदा है और पुरस्कार भी ले लिया। 

Related Articles

Back to top button