Uncategorized

कन्हैया लाल को सुरक्षा नहीं दी…गहलोत सरकार आरोपियों को पकड़ना भी नहीं चाहती थी : अमित शाह

राजस्थान सचिवालय में मिला दो करोड़ रुपया और एक किलो सोना किसका

उदयपुर । केंद्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को राजस्थान के उदयपुर में जनसभा को संबोधित किया। शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जी खामखा में इस उम्र में इधर-उधर घूम रहे हैं। उन्हें कोई जाकर इस सभा का वीडियो दिखा दे तब उन्हें मालूम पड़ जाएगा कि उनकी सरकार के जाने का समय हो गया है। आज जो नजारा मेवाड़ की धरती पर मेरे सामने है, वह बताता है कि 2023 और 2024 में पूर्ण बहुमत की भाजपा सरकार बनने जा रही है। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि मेवाड़ की ये भूमि त्याग-बलिदान और भक्ति की भूमि है। यह भूमि भाजपा का गढ़ है, इसी भूमि से ही भाजपा की विजय पताका निकलती है।

गहलोत जी, 2023 में बीजेपी राजस्थान में जीत के सारे रिकॉर्ड तोड़ कर, प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी जी के नेतृत्व में इन 9 सालों के दौरान करोड़ों किसानों को 6 हजार रुपया प्रतिवर्ष मिला है। जल जीवन मिशन के तहत हर गरीब के घर नल से जल पहुंचाने का काम मोदी जी ने शुरू किया है।

मुफ्त अनाज देने का काम भाजपा की सरकार कर रही है। केंद्रीय मंत्री शाह ने कहा कि कांग्रेस सरकार के दौरान केवल 90 एकलव्य विद्यालय थे, लेकिन मोदी सरकार में 2014 से अब तक 500 से अधिक एकलव्य विद्यालय बनाए जा चुके हैं। हमारी सरकार ने 30 लाख से ज्यादा विद्यार्थियों को छात्रवृति दी।

नरेन्द्र मोदी सरकार पर आज तक हमारे विरोधी भी भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा सके हैं। उन्होंने विपक्षी एकता पर कटाक्ष कर कहा, पटना में जुटने वाले अगर सत्ता में आए, तब घपले-घोटाले भारत की नियति बन जाएंगे और अगर मोदी जी प्रधानमंत्री बने तब ये सारे भ्रष्टाचार करने वाले जेल की सलाखों के पीछे जाएंगे।

शाह ने कहा, गहलोत की सरकार भ्रष्टाचार करने में नंबर-1 पर है। आज आपके पास ये हिसाब मांगने का मौका है कि राजस्थान सचिवालय के अंदर मिला दो करोड़ रुपया और एक किलो सोना किसका है? इस सरकार ने भ्रष्टाचार के सारे रिकॉर्ड तोड़ने का काम किया है।

कन्हैया लाल को सुरक्षा गहलोत सरकार ने नहीं दी, जब तक वहां मर गए तब तक आपकी पुलिस चुप रही। आप आरोपियों को पकड़ना भी नहीं चाहते थे…एनआईए ने आरोपियों को पकड़ा। राजस्थान सरकार स्पेशल कोर्ट नहीं बनाती है, वरना तब अभी तक कन्हैया लाल के दोषियों को फांसी पर लटका चुके होते।

कांग्रेस सरकार को शर्म आनी चाहिए, ये वोटबैंक की राजनीति करते हैं। शाह ने कहा कि गहलोत सरकार तीन डी से घिरी हुई सरकार है, दंगा, महिलाओं से दुर्व्यवहार और दलितों पर अत्याचार…तीन डी से घिरी हुई इस गहलोत सरकार को हमें उखाड़ कर फेंक देना है। यहां पर अब दंगा राज हो चुका है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button