Featured

फोर्जटेक 2023 को भारतीय फोर्जिंग उद्योग जगत का शानदार प्रतिसाद मिला

पुणे । एसोसिएशन ऑफ इंडियन फोर्जिंग इंडस्ट्री (AIFI) की ओर से भारत में फोर्जिंग उद्योग के लिए आयोजित सबसे बड़े सम्मेलन एवं प्रदर्शनी, फोर्जटेक इंडिया 2023 को भारतीय फोर्जिंग उद्योग जगत का शानदार प्रतिसाद मिला है। महाराष्ट्र के पुणे में स्थित ‘द वेस्टिन’ में 3 से 5 नवंबर, 2023 के दौरान इस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा, जिसका इस उद्योग से जुड़े लोगों को बेसब्री से इंतजार था। श्री विकास बजाज – AIFI के अध्यक्ष; श्री यश जे. मुनोत – AIFI के उपाध्यक्ष तथा फोर्जटेक इंडिया 2023 के संयोजक; और श्री अशीत पसरीचा – फोर्जटेक इंडिया 2023 के सह-संयोजक की अगवाई में फोर्जटेक इंडिया के तीसरे संस्करण का आयोजन किया जाएगा। 

फोर्जटेक इंडिया 2023, सही मायने में फोर्जिंग उद्योग से जुड़े प्रतिनिधियों का बेहद महत्वपूर्ण सम्मेलन होने वाला है, जो फोर्जिंग व्यापार एवं उद्योग से संबंधित विभिन्न पहलुओं के बारे में अत्यंत उपयोगी जानकारी प्रदान करेगा। इंडक्टोटर्म इस आयोजन का टाइटल स्पॉन्सर है, जबकि इस कार्यक्रम के दूसरे सम्मानित प्रायोजकों में जेएसडब्ल्यू स्टील लिमिटेड, अरजस स्टील प्रा. लि., इलेक्ट्रोथर्म इंडिया लिमिटेड, स्विस स्टील इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, जेएनएच प्रेस कंपनी लिमिटेड, टेक आर्ट कंपनी लिमिटेड जैसी प्रमुख कंपनियाँ शामिल हैं। भारत फोर्ज के प्रबंध निदेशक, श्री बाबा कल्याणी इस कार्यक्रम में मुख्य वक्ता रहेंगे। श्री विद्याशंकर कृष्णन, श्री एस. मुरलीशंकर, श्री देवेन दोशी, श्री रणबीर सिंह, श्री अभय राज कपूर, श्री अनिल जावळेकर जैसे उद्योग जगत के प्रसिद्ध नेतृत्वकर्ताओं के साथ-साथ कई अन्य गणमान्य लोग फोर्जटेक 2023 में सक्रिय रूप से भाग लेंगे। 

इस वर्ष के संस्करण में दुनिया भर से 600 से ज्यादा प्रतिनिधियों के शामिल होने की उम्मीद की जा रही है। इस कार्यक्रम में दुनिया के जाने-माने विशेषज्ञों द्वारा तकनीकी शोध-पत्रों पर प्रस्तुतियाँ पेश की जाएंगी, साथ ही इस प्रदर्शनी में उद्योग के विकास तथा आपूर्तिकर्ताओं की क्षमता, उपकरण मशीनरी और टूलींग इनोवेशन को भी दिखाया जाएगा। सम्मेलन में उपस्थित लोगों को उभरती हुई टेक्नोलॉजी के बारे में जानने, अपनी तरह के दूसरे लोगों के साथ जुड़ने तथा दुनिया भर में फोर्जिंग और संबंधित उद्योगों के विशेषज्ञों के साथ बातचीत करने का अवसर मिलेगा। इस सम्मेलन एवं प्रदर्शनी के दौरान, AIFI की ओर से फोर्ज मास्टर अवार्ड भी दिए जाएंगे।

इस मौके पर फोर्जटेक इंडिया 2023 के संयोजक तथा AIFI के उपाध्यक्ष, श्री यश मुनोत ने अपनी खुशी जाहिर करते हुए कहा, “पुणे में फोर्जटेक इंडिया के तीसरे संस्करण की घोषणा करते हुए हम बेहद उत्साहित महसूस कर रहे हैं। यह सम्मेलन एवं प्रदर्शनी भारत के फोर्जिंग उद्योग और इसके महत्वपूर्ण हितधारकों के बीच संबंधों को मजबूत करने का बेमिसाल अवसर है। उद्योग के विकास और भविष्य के ट्रेंड पर विशेष ध्यान देते हुए, फोर्जटेक का यह संस्करण इस उद्योग से जुड़ी सभी कंपनियों के लिए एक सहयोगी मंच की भूमिका निभाएगा।”

उन्होंने आगे कहा, “हमने प्रतिभागियों और प्रदर्शकों की ओर से जबरदस्त प्रतिक्रिया देखी है, जो खास तौर पर महामारी के बाद के माहौल में फोर्जटेक 2023 के लिए उद्योग के उत्साह को दर्शाता है। हमें पूरी उम्मीद है कि, पिछले संस्करणों की तुलना में इस साल के आयोजन में लोगों की उपस्थिति में बढ़ोतरी होगी।”

इस आयोजन के माध्यम से बड़े पैमाने पर बदलाव लाने की संभावनाओं को उजागर करते हुए, AIFI के अध्यक्ष श्री विकास बजाज ने कहा, “फोर्जटेक इंडिया 2023 में पूरे भारतीय फोर्जिंग उद्योग के लिए असीमित संभावनाएं मौजूद हैं। यह इनोवेशन को प्रोत्साहन देने, टेक्नोलॉजी में प्रगति को आगे बढ़ाने और उद्योग जगत के मानकों को बेहतर बनाने का संकल्प लेता है। इसमें हमने आपसी सहयोग, जानकारी के आदान-प्रदान और सस्टेनेबल तरीकों को अपनाने पर विशेष ध्यान दिया है। हम फोर्जटेक इंडिया 2023 के बाद भारतीय फोर्जिंग के क्षेत्र में बदलाव का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं, जिसमें उद्योग जगत के आपसी सहयोग में मजबूती, टेक्नोलॉजी पर आधारित कार्य-क्षमता और गुणवत्ता के भरोसे पर कायम रहने जैसी बातों को ध्यान में रखा गया है। यह आयोजन नई साझेदारियाँ बनाने और देश में फोर्जिंग उद्योग को नई ऊंचाइयों पर ले जाने वाले प्रवेश-द्वार की भूमिका निभाएगा।”

जेएसडब्ल्यू स्टील लिमिटेड के प्रवक्ता ने कहा, “भारत की एक प्रमुख स्टील कंपनी होने के नाते, हम फोर्जटेक इंडिया 2023 का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। हमें पूरी उम्मीद है कि यह आयोजन सही मायने में बदलाव लाने वाला साबित होगा, जो टेक्नोलॉजी तथा इस इंडस्ट्री के ट्रेंड के बारे में बहुमूल्य जानकारी प्रदान करेगा। भारतीय फोर्जिंग उद्योग की बात की जाए, तो फोर्जटेक इंडिया 2023 में अपार संभावनाएं हैं जो जानकारी के आदान-प्रदान के अलावा विकास के अवसरों को सुविधाजनक बनाने के लिए एक मंच को बढ़ावा दे रहा है। हम अत्याधुनिक टेक्नोलॉजी को एकजुट करने के लिए, टेक्नोलॉजी उपलब्ध कराने वाली कंपनियों तथा इस इंडस्ट्री के विशेषज्ञों के साथ संभावित सहयोग को लेकर विशेष रूप से उत्साहित हैं। फोर्जटेक इंडिया 2023, फोर्जिंग क्षेत्र में इनोवेशन और प्रगति को बढ़ावा देने वाले मंच की भूमिका निभाने के लिए तैयार है, और हम उन्नति और उत्कृष्टता की दिशा में जारी इस सफर में सक्रिय भागीदार बनने के वादे पर पूरी तरह अटल हैं।”

अरजस स्टील के एम.डी.,श्री श्रीधर कृष्णमूर्ति ने कहा, “भारत में मैन्यूफैक्चरिंग के क्षेत्र को आगे बढ़ाने और मजबूत करने में भारतीय फोर्जिंग उद्योग की भूमिका बेहद अहम है। इस उद्योग में छोटे से लेकर बड़े स्तर तक के उद्यमों का संचालन करने वाली 400 से अधिक फोर्जिंग इकाइयों में 3 लाख से ज्यादा कुशल और अर्ध-कुशल कर्मचारी काम करते हैं, और इस तरह यह उद्योग भारतीय अर्थव्यवस्था के आर्थिक मूल्य को बढ़ा देता है। इसके अलावा, मोटर-वाहन, मशीनरी, ऊर्जा, परिवहन और विभिन्न इंजीनियरिंग डोमेन जैसे प्रमुख क्षेत्रों में दुनिया भर के बाजारों के लिए स्थानीय तौर पर मशीनों के कल-पुर्जों का निर्माण करने तथा सप्लाई चेन को मजबूत बनाने में भी फोर्जिंग क्षेत्र एक महत्वपूर्ण घटक की तरह काम करता है। गौरतलब है कि मोटर वाहन क्षेत्र बड़े पैमाने पर बदलाव के दौर से गुजर रहा है, जिसमें कार्बन फुटप्रिंट को कम करने, सामग्रियों के पुनः उपयोग को बढ़ावा देने और हरित ऊर्जा को अपनाने पर बल दिया जा रहा है। फोर्जिंग सेक्टर भी इस तरह के ट्रेंड के साथ तालमेल बिठाते हुए खुद को नया रूप दे रहा है, ऑटोमेशन को अपना रहा है और फॉसिल फ्यूल पर निर्भरता को कम कर रहा है।”

फिलहाल असोसिएशन ऑफ इंडियन फोर्जिंग इंडस्ट्री (AIFI) के सदस्यों की संख्या 200 से ज्यादा है, तथा भारतीय फोर्जिंग उद्योग के कुल उत्पादन में इनका योगदान 80% से अधिक है। AIFI की भूमिका भारतीय फोर्जिंग उद्योग को बढ़ावा देना और विकसित करना है, ताकि अपने सदस्यों के लिए कारोबारी माहौल को बेहतर बनाकर देश-विदेश के ग्राहकों तथा अंतिम उपयोगकर्ताओं की मांगों और उम्मीदों को पूरा किया जा सके, साथ ही सभी संबंधित पक्षों के आपसी सहयोग और समझ तथा सूचना एवं प्रौद्योगिकी को लगातार अपडेट करते हुए उनकी प्रतिस्पर्धा की क्षमता बढ़ाने में योगदान दिया जा सके। इसके अलावा, फोर्जिंग उद्योग से संबंधित समस्याओं और ट्रेंड को समझने के लिए, AIFI की ओर से देश भर में क्षेत्रीय बैठकों का आयोजन किया जाता है।

Related Articles

Back to top button