Featured

का‎तिलों को नहीं छोड़ेंगे नारों के साथ रूस में ‎विमान पर टूट पड़ी भीड़

मास्कॉ । फिलिस्तीन के नाग‎रिकों की सुरक्षा को लेकर पूरी दु‎निया में प्रदर्शन ‎किए जा रहे हैं। ले‎किन रूस के मखाचकला एयरपोर्ट पर ‎जिस तरह का प्रदर्शन हुआ है वो इजराइल के ‎लिए डराने वाला है। यहां ‎‎फि‎लिस्तीन के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे सैकड़ों लोगों की भीड़ ने हाथ में पत्थर और ‎फिलिस्तीन का झंडा लेकर नारेबाजी की। देखते ही देखते बेकाबू भीड़ ने यहूदियों की मॉब लिंचिंग की कोशिश की। दागीस्तान में यहूदियों के साथ हुई इस घटना के बाद इजराइल ने रूसी राजदूत को तलब किया है और यहूदियों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है।

प्रदर्शनकारियों को जैसे ही सूचना मिली कि इजराइल की राजधानी तेल अवीव से एक फ्लाइट आ रही है तो भीड़ ने फ्लाइट को रनवे पर घेर लिया। हजारों मुस्लिम एयरपोर्ट के गेट को तोड़कर अंदर आ गए। हालात इतने बिगड़ गए कि दंगाइयों को रोकने के लिए स्पेशल फोर्स बुलानी पड़ी। भीड़ फिलिस्तीन का झड़ा लेकर लगातार ‘बच्चों के कातिलों को नहीं छोड़ेंगे’ का नारा लगा रही थी। बताया जा रहा है कि फ्लाइट के यात्रियों में भीड़ यहूदियों को खोजने लगी। भीड़ एक-एक पैसेंजर का पासपोर्ट चेक करती रही। जबरदस्त विरोध प्रदर्शन के बाद कुछ देर के लिए एयरपोर्ट को भी बंद करना पड़ा। रूस में हमास की मीटिंग के तीन दिन बाद इजराइल के खिलाफ यह सबसे बड़ा प्रदर्शन था। रूस के दागेस्तान में बड़ी मुस्लिम आबादी है।

इस घटना के बाद इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने बयान जारी कर रूस को आगाह किया है. नेतन्याहू ने यहूदी छात्रों पर हो रहे हमलों को तुरंत रोकने की मांग की है। इजराइल ने रूसी राजदूत को तलब कर रूस में इजराइली लोगों की सुरक्षा को लेकर चिंता जताई है। रूस में मौजूद इजराइली राजदूत क्रेमलिन के संपर्क में है।

Related Articles

Back to top button