Featured

मध्य प्रदेश में ओले गिरने से फसलें तबाह

जबलपुर-मंडला-कटनी, सिवनी में ओले गिरे

नर्मदापुरम-छिंदवाड़ा, डिंडौरी और शहडोल में तेज बारिश

भोपाल। मध्य प्रदेश में रविवार सुबह मौसम का मिजाज बदल गया है। राज्य के अनेक हिस्सों में बारिश हुई है। कुछ स्थानों पर ओलावृष्टि भी हुई है। जबलपुर में बरगी तहसील के सोहड़ गांव में 2 मिनट तक ओले भी गिरे। सिवनी और मंडला में 4 मिनट तक ओलावृष्टि हुई। यहां फसलों को काफी नुकसान हुआ है। वहीं कटनी में भी ओले गिरे हैं।

नर्मदापुरम, छिंदवाड़ा, अनूपपुर, मंडला, बालाघाट में भी गरज-चमक के साथ शनिवार रात पानी गिरा। मौसम विभाग के अनुसार, मध्यप्रदेश में अगले 3 दिन बादल, बारिश और आंधी चलने के आसार हैं। जबलपुर-नर्मदापुरम संभाग के जिलों में 30 से 40 किलोमीटर/घंटे की स्पीड से हवाएं चल सकती हैं। 14 फरवरी से फिर तेज ठंड का दौर शुरू होगा। रात का टेम्प्रेचर 2 से 3 डिग्री सेल्सियस तक गिर सकता है।

आधा सैकड़ा से अधिक गांव में ओलावृष्टि

डिंडौरी जिले के शहपुरा क्षेत्र के आधा सैकड़ा से अधिक गांव में ओलावृष्टि के साथ मूसलाधार वर्षा हुई। इससे फसलों पर बुरा असर पडऩे की आशंका जताई जा रही है। मौसम के बदले मिजाज से किसान परेशान नजर आ रहे हैं। जिले के शहपुरा विकासखंड अंतर्गत अनेक गांवों में रविवार की सुबह मूसलाधार वर्षा होने के साथ जमकर ओलावृष्टि भी हुई। इस दौरान बेर के आकार के ओले लगभग 20 मिनट तक गिरते रहे। कई जगह सडक़ पर और गेहूं की फसलों में ओले पट गए। तेज वर्षा के साथ ओलावृष्टि से किसानों की फसल के साथ सब्जियां भी प्रभावित हुई हैं। गौरतलब है कि विगत तीन दिनों से ठंड का असर शीत लहर के चलते बढ़ गया है। शनिवार को भी आसमान में बादल छाए रहे। रविवार की सुबह जिले भर में वर्षा हुई है। सबसे तेज वर्षा शहपुरा तहसील क्षेत्र में हुई है। विक्रमपुर, शाहपुर सहित आसपास के गांव में ओलावृष्टि होने से किसान भी परेशान हो रहे हैं। बताया गया कि सब्जी की फसल भी इससे प्रभावित हुई है। प्रशासन द्वारा प्रभावित फसलों का मुआयना करने की बात कही जा रही है। बताया गया कि गेहूं की फसल के साथ किसानों की चना, मसूर की फसल भी प्रभावित हुई है।

Related Articles

Back to top button