Featured

आदिवासी अंचल पर कांग्रेस का फोकस

तीन दिन में दो सभाएं करेंगे राहुल और प्रियंका

भोपाल । भले ही अब तक प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान नहीं हुआ है, लेकिन सूबे में चुनावी प्रचार तेज होने लगा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अलावा तमाम भाजपा नेता बीते एक माह में प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में आ जा चुके हैं। इस बीच अब कांग्रेस ने भी अपनी सक्रियता बढ़ाते हुए पार्टी के दोनों दिग्गज नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को भी मैदान में उतार दिया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सभा के बाद अब कांग्रेस ने महाकौशल व विंध्य अंचल के दो आदिवासी बाहुल्य शहरों में राहुल गांधी व प्रियंका गांधी की सभाएं कराने का तय किया है। 10 अक्टूबर को राहुल गांधी शहडोल के ब्यौहारी आ रहे हैं, उसके बाद 12 अक्टूबर को मंडला में प्रियंका की सभा करवाई जा रही है। दरअसल 10 अक्टूबर को राहुल गांधी शहडोल के ब्यौहारी में जन आक्रोश यात्रा के समापन पर जनसभा को संबोधित करेंगे। इस अंचल में अजय सिंह राहुल और कमलेश्वर पटेल को जातीय और स्थानीय समीकरण को देखते हुए अलग-अलग अंचल से यात्रायें निकालने का जिम्मा सौंपा गया है, जिसका समापन ब्यौहारी में होगा। जनसभा में राहुल गांधी आदिवासी समाज के कुछ व्यक्तियों से संवाद करेंगे। सभा में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ, प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी रणदीप सुरजेवाला और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह सहित अन्य कांग्रेस नेता उपस्थित रहेंगे। आदिवासी सीटों के साथ-साथ कांग्रेस की रणनीति विंध्य साधने की भी है। 2018 में विंध्य में कांग्रेस का प्रदर्शन सबसे ज्यादा कमजोर रहा था। यहां 30 विधानसभा सीटों में से महज 6 सीटें ही पार्टी जीत पाई थी। विंध्य में सिंगरौली, शहडोल, अनूपपुर और उमरिया आदिवासी बाहुल्य जिले हैं, वहीं दूसरी ओर सतना, रीवा और सीधी में पिछड़ा वर्ग और जनरल वर्ग का प्रभाव है। विंध्य को साधने के लिए ही दो नेताओं अजय सिंह और कमलेश्वर पटेल को जन आक्रोश यात्रा की जिम्मेदारी दी गई थी और अब समापन पर राहुल गांधी की सभा रखी गई हैं, ताकि आसपास के जिलों के कार्यकर्ताओं में जोश भरा जा सके।

यह है प्रियंका का दौरा

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी 12 अक्टूबर मंडला में जनसभा को संबोधित करेंगी। कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष के के मिश्रा के मुताबिक प्रियंका गांधी और पीसीसी चीफ कमलनाथ 12 अक्टूबर दिल्ली से विशेष विमान से सुबह 11 बजे जबलपुर पहुंचेंगे। जिसके बाद हेलीकॉप्टर से 11.45 तक मंडला पहुंचेंगे और वहां दोपहर 12 बजे कांग्रेस की जनसभा को संबोधित करेंगे। सभा के बाद प्रियंका गांधी और कमलनाथ हेलीकॉप्टर से ही जबलपुर रवाना होंगी। जहां से प्रियंका गांधी दिल्ली के लिए रवाना हो जाएंगी।

आदिवासी सीटों पर फोकस

कांग्रेस का फोकस आदिवासी सीटों पर है, यहीं वजह है कि रणनीति के तहत आदिवासी बाहुल्य इलाकों में राहुल और प्रियंका के दौरे हो रहे हैं। 5 अक्टूबर को प्रियंका गांधी ने धार के मोहनखेड़ा में आमसभा को संबोधित किया था। शहडोल की तीनों विधानसभा सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं और तीनों पर भाजपा का कब्जा है। ब्योहारी से शरद कोल, जयसिंहनगर से जयसिंह मरावी और जैतपुर से मनीषा सिंह विधायक हैं। मंडला जिले की भी तीनों विधानसभा सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। 2 पर कांग्रेस और 1 पर भाजपा का विधायक है। बिछिया में कांग्रेस के नारायण सिंह पट्टा, निवास से कांग्रेस के अशोक मर्सकोले और निवास से भाजपा के देवीसिंह सैयाम विधायक हैं। यह वो इलाका है , जहां पर गोंगापा का प्रभाव माना जाता है।

Related Articles

Back to top button