Featured

कमलनाथ पर दिए बयान पर फंसे कांग्रेस प्रवक्ता

पार्टी ने आलोक शर्मा को दिया नोटिस

भोपाल । मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर बयानबाजी को लेकर कांग्रेस ने अपने ही राष्ट्रीय प्रवक्ता आलोक शर्मा को कारण बताओ नोटिस दिया है। मीडिया विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष पवन खेड़ा की ओर से नोटिस जारी किया गया। पार्टी ने आलोक शर्मा के बयान को गंभीर अनुशासनहीनता मानते हुए दो दिन में जवाब मांगा है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता आलोक शर्मा ने एक यूट्यूब चैनल को इंटरव्यू में कहा था कि कमलनाथ के पिछले 5-6 वर्ष के कार्यकाल को देखकर लगता है कि वह खुद नहीं चाहते थे कि मध्यप्रदेश में कांग्रेस की सरकार बने। उन्होंने कांग्रेस के नेताओं को काम भी नहीं करने दिया। साथ ही यह भी कहा था कि उनके घर ईडी-सीबीआई क्यों नहीं पहुंचती है।

गांधी परिवार के साथ हमेशा खड़े रहे कमलनाथ

आलोक शर्मा को नोटिस जारी किए जाने के बाद कमलनाथ के करीबी और कांग्रेस के पूर्व प्रवक्ता सैयद जाफर ने कहा- कमलनाथ ने कांग्रेस की सेवा अपने यौवनकाल की शुरुआत से ही की थी। इंदिरा गांधी के वक्त से ही वे भारत के नवनिर्माण अभियान के साथ जुड़े हैं। संजय गांधी, राजीव गांधी, सोनिया गांधी के बाद प्रियंका गांधी और राहुल गांधी के साथ वे कंधे से कंधे मिलाकर डटे हुए हैं। जब भाजपा सरकारी एजेंसियों के साथ संपूर्ण विपक्ष को खत्म करने पर आमादा है, तब कमलनाथ ही हैं, जिनके निर्विवाद नेतृत्व में सभी कांग्रेसजनों ने मिलकर 2018 में मध्य प्रदेश से भाजपा के किले को ढहाकर कांग्रेस की सरकार बनाने का लक्ष्य हासिल किया। अब भी कई लोग कमलनाथ जैसे कांग्रेस के आधारभूत स्तंभों के खिलाफ भाजपाई षडय़ंत्र के शिकार हो जाते हैं। एआईसीसी ने ऐसे ही षडय़ंत्र के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी कर कमलनाथ की निष्ठा का सम्मान किया है। जब भाजपा अपनी सारी सरकारी एजेंसियों के कंधों पर हथियार रखकर संपूर्ण विपक्ष को उखाडऩे और खत्म करने पर आमादा हो, तब भी कमलनाथ अपने तजुर्बों के साथ पार्टी वर्करों के साथ खड़े हैं।

बीजेपी का हमला

कमलनाथ पर विवादित टिप्पणी को लेकर कांग्रेस प्रवक्ता को शो-कॉज नोटिस जारी करने के मामले पर बीजेपी प्रवक्ता नरेन्द्र सलूजा ने ट्वीट कर लिखा- कमलनाथ जी को अब कांग्रेस के नेताओ से ही मिल रही है चुनौती। कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता आलोक शर्मा की कमलनाथ जी के ख़िलाफ़ की गई बयानबाज़ी को , नाथ जी के सलाहकार मंडल ने ही किया वायरल। जिनको नहीं पता था , उनको भी पता चल गया। पता नहीं क्यों बची-खुची भी ख़त्म करने में लगे हैं।

Related Articles

Back to top button