Featured

हरियाली के पास रहने से बच्चों की हड्डियां होती है मजबूत

शोध उपरांत वैज्ञानिकों ने किया यह दावा

लंदन । जो बच्चे हरियाली के पास रहते हैं उनके शरीर की हड्डियां ज्यादा मजबूत होती है और जो बच्चे हरियाली से दूर रहते हैं उनकी हड्डियां उतनी मजबूत नहीं होती हैं। यह दावा किया है ताजा अध्ययन करने वाले वैज्ञानिकों ने। वैज्ञानिकों ने रिहायशी इलाकों के आसपास की जगहों और हड्डियों की खनिजों का घनत्व का सीधा संबंध पाया गया है। यह अध्ययन बेल्जियम में एनवायर्नमेंट इन्फ्लूएंस ऑन एजिंग इन अर्ली लाइफ बर्थ कोहार्ट के हिस्से के तौर पर किया गया था। इसमें बेल्जियम के फ्लैंडर्स इलाके में चार से छह साल के 327 बच्चों को शामिल किया गया और उनकी हड्डियों की मजबूती की पड़ताल की गई।

इस अध्ययन में बोन डेन्सिटी निकालने के लिए अल्ट्रासोनेग्राफी सहित कई बड़े तरीकों से नतीजे हासिल किए गए। अध्ययन में खुलासा हुआ कि हड्डियों के खनिजों का घनत्व बच्चों की उम्र और ऊंचाई से तो बढ़ता है। लेकिन इस पर लिंग, वजन, स्क्रीन टाइन, नस्ल, कितना विटामिन खाया, कितना डेयरी उत्पाद खाया, मां की शिक्षा का स्तर और आसपास के लोगों की आय जैसे कारकों का ज्यादा असर नहीं होता है।पर इस अध्ययन में सबसे बड़ी और अजीब बात पता लगी वह यह कि रिहायशी इसाकों के आसपास की हरियाली और हड्डियों के खनिजों का घनत्व का आपस मे गहरा संबंध है। आसपास की हरियाली के कम होने से हड्डियों में खनिजों के घनत्व कम होने का जोखिम कम होता भी पाया गया।

अध्ययन की पड़ताल दर्शाती हैं कि जो बच्चे के घर के एक हजार मीटर के आसपास अगर 25 फीसदी हिस्सा हरियाली वाला हो तो उनमें बोन डेंसिटी कम होने का जोखिम 66 फीसदी कम हो जाता है। वहीं इस अध्ययन में बच्चा लड़का है या लड़की इसका अंतर नहीं देखा गया। वैज्ञानिकों को मानना है कि ज्यादा मजबूत हड्डियों का मतलब है कि इंसान में बाद के जीवन में ज्यादा काबिलियत होती है। इससे साफ तौर पर जाहिर होता है कि जो लोग शहर या कॉलोनी आदि की प्लानिंग करते हैं उन्हें इस बात का खास ध्यान रखना चाहिए कि घर के आसपास खासी हरियाली हो।

Related Articles

Back to top button