Featured

डीपफेक पर बनेगा तगड़ा आईटी ‎नियम, केन्द्र ने ‎किया आगाह

नई दिल्ली । केन्द्र सरकार डीपफेक पर जल्दी ही तगड़ा ‎आईटी ‎‎नियम बनाने जा रही है। सोशल मीडिया और ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर डीपफेक पर मशविरा पत्र के अनुपालन में गड़बड़ी के बीच केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा है कि डीपफेक की समस्या से निपटने के लिए आने वाले समय में सख्त आईटी नियमों को लागू ‎किए जाने की संभावना है। चंद्रशेखर ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा ‎कि अनुपालन का ‎मिलाजुला प्रदर्शन रहा है और मैंने मशविरा पत्र के समय कहा था कि अगर हमें लगता है कि इसका पूरी तरह से पालन नहीं किया जा रहा है, तो हम जल्द संशोधित आईटी नियमों के साथ इसका पालन करेंगे। उन्होंने कहा कि अगले एक सप्ताह में आईटी नियमों में संशोधन की उम्मीद है। गौरतलब है ‎कि सरकार ने पिछले महीने मौजूदा आईटी नियमों का अनुपालन सुनिश्चित करने और एआई-डीपफेक द्वारा संचालित गलत सूचना के आसपास बढ़ती चिंताओं को विशेष रूप से ध्यान में लाने के लिए सभी सोशल मीडिया मध्यस्थों को एक सलाह भी दी थी। ‎जिसमें कहा गया कि मध्यस्थ प्रतिबंधित कंटेंट, विशेष रूप से आईटी नियमों के नियम 3(1)(बी) के तहत निर्दिष्ट कंटेंट को स्पष्ट और सटीक रूप से यूजरों तक पहुंचाएं।

मंत्री ने मंगलवार को राष्ट्रीय स्टार्टअप दिवस के अवसर पर नोएडा में एक बोट विनिर्माण इकाई का दौरा किया, जहां उन्होंने कंपनी के सह-संस्थापक अमन गुप्ता के साथ बातचीत की। मंत्री ने कहा ‎कि राष्ट्रीय स्टार्टअप दिवस पर, बोट हमारे देश भर में पनप रहे जीवंत उद्यमशीलता पारिस्थितिकी तंत्र को आकार देने में भारत सरकार की अभिन्न भूमिका को सलाम करते हुए कृतज्ञता के स्वर में शामिल होता है। उन्होंने कहा ‎कि हम उस बिंदु पर पहुंच गए हैं, जहां 2014 में कम स्टार्टअप से, हमारे पास एक लाख से अधिक स्टार्टअप और 112 यूनिकॉर्न हैं। आज, किसी भी युवा भारतीय के पास अपना ‎स्किल मौजूद है।

Related Articles

Back to top button