Madhya Pradesh

Bhopal crime : 10 दिन में फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाने वाले 4 आरोपी गिरफ्तार

हजारों की संख्या में फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाकर शासन को लगाई कई करोड़ रुपये की चपत
भरत पटेल ने बनाए 450 फर्जी आयुष्मान कार्ड 4 माह से फरार आरोपी केशव चौहान को

Bhopal crime branch : क्राईम ब्रांच सहायक पुलिस आयुक्त अपराध शिवपाल सिंह कुशवाहा के दिशा निर्देशन में क्राइम ब्रांच की टीम द्वारा फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाने वाले आरोपियों की धरपकड़ की छापामार कार्यवाही में थाना क्राईम ब्रांच ने पिछले 10 दिवस के अंदर 4 आरोपियों को पकड़ा | पुलिस से प्राप्त जानकारी फरवरी 2023 को महाप्रबंधक विधि आयुष्मान भारत निरामय द्वारा अनुराग श्रीवास्तव (पूर्व डिस्ट्रिक्ट को- ऑर्डिनेटर वी आई डी ए एल कंपनी, स्टेट हेल्थ एजेंसी की लॉग इन आईडी का अनाधिकृत रूप से उपयोग कर अप्रूव कर बहुत सारे अपात्र लोगों के फर्जी आयुष्मान कार्ड जारी किए है। इन फर्जी आयुष्मान कार्ड के माध्यम से लोगों का इलाज हुआ ।जिससे शासन को लाखों रुपये की क्षति होने की लिखित रिपोर्ट की गई थी ।

जांच के दौरान क्राइम ब्रांच को 1 मार्च 2023 को मुख्य आरोपी अनुराग श्रीवास्तव नमो नगर कालोनी ग्वालियर बाइपास शिवपुरी को पकड़ने पर उसने अपनी स्टेट हेल्थ एजेंसी आईडी के जरिए गंज बाशौदा में कोमॉन सर्विस सेंटर का काम करने वाले प्रकाश पंथी और मुंगावली सरकारी अस्पताल में आयुष्मान मित्र का काम करने वाले राहत खान को अपात्र व्यक्तियों के आयुष्मान कार्ड बनाने में किया था। उसके कुछ दिनों बाद14 मार्च को 23 को विकास दुबे जिला सागर को गिरफ्तार कर जेल भेज जा चुका है।

इस कार्यवाही में 27 अगस्त 2022 से फरार आरोपी भरत पटेल जिला सागर को हिरासत में लिया जिसने विकास दुबे की मदद से करीबन 450 फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाए। आरोपी भरत पटेल के बताए जाने पर केशव चौहान जिला सीहोर को राजस्थान बॉर्डर से दबोचा। उसके बाद 5 जुलाई 2023 को हितेश आसवनी और उसके शागिर्द आरिफ़ खान सीहोर को को गिरफ्तार किया गया है। पिछले 10 दिन फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाने वालों पर काफी भारी पड़े हैं मामले में कई और की संलिप्तता है, अब क्राइम ब्रांच पुलिस इनके सरगनाओं की तलाश में जुटी हुई है जिनके पकड़े जाने से जल्द की मामले में बड़े खुलासे होंगे। शासन की महत्वाकांक्षी योजना जिसमें गरीबों का 5 लाख रुपये तक का मुफ़्त इलाज कराए जाने की सुविधा थी किन्तु अपात्र लोगों के फर्जी आयुष्मान कार्ड से इलाज की सुविधा का लाभ लिया गया जिससे शासन को कई लाख रुपये की चपत लगी है जिनके बैंक अकाउंट में पड़े करीबन 15 लाख रुपये को फ्रीज कराया गया है। तरीका-वारदात – आरोपीगण द्वारा अनाधिकृत तरीके से अपात्र व्यक्तियों के फर्जी आयुष्मान कार्ड तैयार कर इलाज करवाया गया।
बताया जाता है इस गिरोह के हजारों की संख्या में में आयुष्मान कार्ड बनाए गए है । इनके द्वारा अस्पताल प्रबंधन के साथ मिलकर करोड़ों रुपए की ठगी शासन के साथ की है।

000000000
देशी कट्टे के साथ 3 आरोपी गिरफ्तार



Bhopal crime news : थाना प्रभारी क्राइम ब्रांच अनूप कुमार उईके को मुखबिर से सूचना मिली कि तीन व्यक्ति जो पुराना रेल्वे फाटक के पास कैची छोला रोड पर अपने पास हथियार रखे हुए है। जो किसी को बेचने या अपराध की फिराक में खड़े है । प्राप्त सूचना से थाना प्रभारी पुराना रेल्वे फाटक के पास मुखबिर के बताये हुलिये के तीन व्यक्ति दिखे। आरोपी क्राइम ब्रांच को देखकर भागने का प्रयास करने लगे जिन्हे घेराबंदी कर पकड़ा गया। तीनों सन्देहियों ने अपना नाम 1 नदीम जिन्सी, दानिश, बैरसिया रोड , फैज़ अली काजीकेम्प बताया।

तलाशी में संदेही नदीम से 1 लोहे का देशी कट्टा 1 जिन्दा कारतूस, दानिश और फैज अली से छुरी मिली। तीनो आरोपियों को आर्म्स एक्ट के तहत किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button