National

एजेंसी ने जांच पूरी की, सीमा हैदर पर बड़ी रिपोर्ट आने का इंतजार

अब तक पा‎किस्तानी जासूस होने के नहीं ‎मिले कोई सबूत, हो सकती हैं ‎डिपोर्ट
Noida : पाकिस्तान से ग्रेटर नोएडा पहुंची सीमा हैदर के मामले में जांच एजें‎सियों ने अपनी जांच पूरी कर ली है। अब बस बड़ी ‎रिपोर्ट आने का इंतजार हो रहा है। हालां‎‎कि सूत्रों के हवाले से बताया गया ‎कि सीमा का पा‎किस्तानी जासूस होने का कोई सबूत नहीं ‎मिला है। सीमा को ‎डिपोर्ट भी ‎किया जा सकता है। ‎फिर भी सीमा हैदर की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। सीमा के खिलाफ नोएडा पुलिस की जांच लगभग पूरी हो चुकी है। जल्द ही सीमा हैदर के पाकिस्तान से भारत अवैध तरीके से आने के मामले में नोएडा पुलिस कोर्ट में चार्जशीट दायर कर सकती है।

नोएडा पुलिस की ओर से पाकिस्तान से ग्रेटर नोएडा के रबूपुरा तक पहुंची सीमा हैदर को लेकर कई एंगल से जांच की गई है। उस पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई से जुड़ाव का शक बनता दिखा। हालांकि, जांच में अभी तक उसके पाकिस्तानी आईएसआई जासूस होने का मामला सामने नहीं आया है। पुलिस ने इस जांच के क्रम में केंद्रीय एजेंसियों की मदद ली है। उसके कॉल डिटेल और सोशल मीडिया डिटेल तक को खंगाला गया है। तमाम पहलुओं पर हुई जांच के बाद नोएडा पुलिस की ओर से पेश की जाने वाली चार्जशीट पर हर किसी की नजर टिक गई है।

बता दें ‎कि सीमा हैदर का भारत में भविष्य भी काफी हद तक इस चार्जशीट पर टिका हुआ है। अगर उस पर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई से जुड़ाव का कोई भी शक बनता दिखता है तो उसे एक बार फिर जेल जाना पड़ सकता है। सीमा के अलावा उसकी मदद करने वाले और उसे पनाह देने वाले सचिन मीणा की भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। साथ ही, सीमा को पाकिस्तान भी डिपोर्ट किया जा सकता है। पिछले दिनों सीमा हैदर को लेकर कई प्रकार की चर्चाएं चल रही है। कभी उसे राजनीतिक दल में शामिल होने का ऑफर मिल रहा है। कभी उसके एक्टर बनने की चर्चा शुरू हो जाती है। एक फिल्म में सीमा को रॉ एजेंट की भूमिका भी दिए जाने की चर्चा चल रही है।
इन तमाम चर्चाओं के बीच नोएडा पुलिस की जांच पर हर किसी की नजर टिकी दिख रही है।

बता दें ‎कि सीमा हैदर और सचिन मीणा की मुलाकात पबजी गेम के दौरान ऑनलाइन 2019 में हुई थी। इसके बाद दोनों के बीच बातचीत शुरू हो गई। दोनों की दोस्ती हो गई। बातचीत का सिलसिला आगे बढ़ा तो सीमा और सचिन एक-दूसरे के करीब आ गए। दोनों ने मुलाकात का फैसला लिया। नेपाल के काठमांडु में दोनों की मुलाकात हुई। इस मुलाकात में दोनों ने साथ रहने का फैसला लिया। मई माह में पाकिस्तान के करांची से यूएई होते हुए सीमा हैदर अपने चार बच्चों के साथ नेपाल के रास्ते ग्रेटर नोएडा के रबूपुरा पहुंच गई। बाद में उसे गिरफ्तार किया गया। अभी वह जमानत पर बाहर है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button