Featured

भगवान जिनेन्द्र का अभिषेक कर जगत में सभी के मंगल मय जीवन की कामना की

जैन मंदिरों में सामूहिक क्षमा वाणी का आयोजन

 भोपाल । राजधानी के जैन मंदिरों में सामूहिक क्षमा याचना के कार्यक्रमों का सिलसिला जारी है । मंदिरों में भगवान जिनेन्द्र के अभिषेक और विशेष पूजा अर्चना के साथ श्रद्धालु जगत कल्याण की भावना व्यक्त कर रहे हैं। पंचशील नगर जैन मंदिर में चातुर्मास कर रहे आचार्य विशुद्ध सागर महाराज के शिष्य मुनि आराध्य सागर महाराज की निरंतर उपवास की साधना चल रही है । आज आशीष वचन में मुनि श्री ने कहा विश्व शांति का सबसे बड़ा मंत्र क्षमा धर्म है। देश के सर्वोच्च पद पर बैठे अगर क्षमा मांगना और क्षमा करना सीख जाए विश्व की संपूर्ण समस्याएं समाप्त हो जाएं। संपूर्ण विश्व में शांति एकता और अनेकांतवाद हो जाए समाज के प्रवक्ता अंशुल जैन ने बताया श्री चंद्र प्रभु जैन मंदिर मंगलवारा में भगवान चंद्र प्रभु का अभिषेक और विशेष पूजा अर्चना के साथ जगत के सभी जीवो के मंगल मय जीवन की प्रार्थना की गई। शंकराचार्य नगर मंदिर समिति का⁴ आयोजन राजधानी के समीप समाजगढ़ तीर्थ क्षेत्र में हुआ। समाज के लोगों ने भगवान शांतिनाथ की विशेष पूजा अर्चना कर परिसर में गरबा भक्ति नृत्य कर आराधना की। शहर के प्रमुख नंदीश्वर जिनालय कस्तूरबा नगर टी टी नगर शंकराचार्य नगर मंदिर समिति का आयोजन समसगढ तीर्थ क्षेत्र में हुआ । यहां भगवान शांतिनाथ भगवान रहनाथ भगवान शांति नाथ की पूजा अर्चना कर गरबा नृत्य द्वारा मंगल आरती के साथ प्रभु जिनेंद्र की भक्ति की गई । शहर की नंदीश्वर विद्यालय टी टी नगर अयोध्या नगर अहिंसा बिहार शाहपुरा सोना गिरी सहित प्रमुख मंदिरों में सामूहिक क्षमा वाणी के आयोजन हुए ।आज रविवार को पिपलानी जैन मंदिर में विशेष व्यंजन मेला लगाया जाएगा।

Related Articles

Back to top button