Featured

कोंडागांव में जनसभा को संबोधित कर शाह ने कहा, छत्तीसगढ़ के लोग तीन बार दीवाली मनाएंगे

रायपुर । केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह गुरुवार को छत्तीसगढ़ के दौरे पर पहुंचे। यहां शाह ने बस्तर क्षेत्र के जगदलपुर और कोंडागांव में सार्वजनिक सभाओं को संबोधित किया। कोंडागांव में जनसभा को संबोधित कर शाह ने कहा कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के 9 साल के कार्यकाल में नक्सली हिंसा की घटनाओं में 52 प्रतिशत की कमी आई है। केंद्रीय मंत्री शाह ने कहा कि राज्य में अगर भाजपा सत्ता में आई तब समूचे छत्तीसगढ़ को नक्सली खतरे से मुक्त कर दिया जाएगा।

केंद्रीय गृह मंत्री शाह ने कहा, ‘छत्तीसगढ़ तीन दिवाली मनाएगा, एक सामान्य मौके पर, दूसरी 3 दिसंबर को जब भाजपा राज्य में सरकार बनाएगी तब और तीसरी जनवरी 2023 में अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के समय। परिवर्तन महासंकल्प जनसभा को संबोधित करने से पहले केंद्रीय गृह मंत्री शाह ने जगदलपुर में दंतेश्वरी मंदिर में पूजा-अर्चना की।

शाह ने कहा, ‘पीएम मोदी ने डिस्ट्रिक मिनरल फंड बनाया, जिसके अंतर्गत पिछले 9 वर्षों में 75,000 करोड़ रुपये जिलों के विकास पर खर्च किया गया। इसके तहत पीने का पानी, प्राथमिक शिक्षा, गौशाला का विकास और घर-घर बिजली पहुंचाने जैसे कार्य किए गए हैं। केंद्र में 10 वर्ष तक कांग्रेस की सरकार थी, उस सरकार ने देश भर में आदिवासी कल्याण के लिए मात्र 29,000 करोड़ रुपये दिए। लेकिन मोदी जी के प्रधानमंत्री बनने के बाद 1,32,000 करोड़ रुपये आदिवासी कल्याण पर खर्च किए गए।

शाह ने कहा, ‘मोदी जी ने देश भर के आदिवासियों के सम्मान के लिए बहुत सारे काम किए हैं। जल, जंगल और जमीन की रक्षा के साथ साथ आदिवासी भाई-बहनों को सुरक्षा, सम्मान और समावेशी विकास देने का काम नरेन्द्र मोदी सरकार ने किया है। शाह ने कहा, ‘देश में एक मात्र बीजेपी ऐसी पार्टी है जहां टिकट पाने के लिए सरनेम नहीं पूछा जाता है और बैंक अकॉउंट नहीं देखा जाता है। कांग्रेस पूरे देश में एक एक्सटेंशन की स्थिति में है, तेलंगाना में भी कांग्रेस पूरी तरह से साफ होगी और पांचों चुनावी राज्यों में बीजेपी की जीत होगी। जमीन से जो नेता जुड़े हैं, वह जनता से जुड़े हुए हैं।

छत्तीसगढ़ में 7 नवंबर को पहले चरण में मतदान होगा। 90 सदस्यीय राज्य विधानसभा के लिए चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के बाद कांग्रेस शासित राज्य की अमित शाह की यह दूसरी यात्रा है। इस क्षेत्र में राज्य की 20 विधानसभा सीटें आती हैं।

Related Articles

Back to top button