Featured

मंदिर के पास मिले आरोपी ‘पंडित जी’ गिरफ्तार

पूजापाठ के नाम पर धोखाधड़ी कर जेवर ठगे

जबलपुर । उपचार के दौरान झटके लगने से व्यथित व्यक्ति की पत्नी को मिले एक कथित पंडित जी ने बीमारी को बाहरी हवा बताते हुए पूजा पाठ के नाम पर महिला के पूरे जेवर ठग लिए। पूजापाठ से पति की सेहत में तो सुधार नहीं आया बची खुचा स्त्रीधन जाने से व्यथित पीडि़ता की शिकायत पर बरगी थाना पुलिस ने आरोपी कथित पंडित मीरगंज भेड़ाघाट निवासी ५० वर्षीय अरविंद पाण्डे को तिलवाराघाट स्थित राधा कृष्ण मंदिर के पास धरदबोचा। पुलिस के अनुसार इस मामले में ग्राम देवद्वार, सालीवाड़ा निवासी २७ वर्षीय पूनम साहू ने शिकायत दर्ज कराई। पीडि़ता ने बताया कि उसके पति राकेश साहू का एक्सीडेंट होने पर अपनी दुकान के कर्मचारी शिवराज यादव के माध्यम धनवंतरी नगर स्थित एम्स अस्पताल में भर्ती कराया। अस्पताल में एक कथित पंडित जी मिले जिन्होंने अपना नाम आरोपी अरविंद पाण्डे बताया। इलाज के दौरान उसके पति को झटके आ रहे थे, जिस पर आरोपी ने उसके पति को देख कर कहा कि इनके ऊपर बाहरी हवा लगी हैं। आरोपी ने कहा कि उसके एक बाबाजी जिनसे ताबीज बनवाकर देगा तो उसके पति ठीक हो जाएंगे। आरोपी ने पूनम को अपना मोबाइल नंबर दिया। १० दिन बाद पूनम के घर पहुंचे आरोपी ने वहाँ पहुँचते ही उसके जेवर के विषय में पूछा। पूनम के यह बताने पर की जेवर घर पर हैं, आरोपी ने जेवर उसके पास लाकर रखने को कहा। अपने पति और बच्चों की जिंदगी की सलामती की मंशा से पूनम ने सोने की तीन जोड़ी झुमकी, एक बड़ा हार, २ मंगलसूत्र, २ अंगूठी, ४ चूड़ी, १ पांचाली, १ हाय, चांदी की २ छोटी पायल, १ बड़ी पायल, २ संतान साते की चूड़ी लाकर आरोपी के सामने रख दी। आरोपी अरविंद पाण्डे ने पूरे जेवर एक लाल कपड़े में रख कर घर के चारों कोनों में पानी छिड़क कर अगरबत्ती जलाने कहा। जब तक पूनम अगरबत्ती जलाकर वापस लौटी आरोपी ने लाल कपड़े की पोटली बाँध चुका था। पोटली पर अगरबत्ती घुमाकर आरोपी ने पोटली को अंदर ले जाकर पेटी में रख कर २१ दिन बाद खोलने के लिए कहा। पूनम ने बगैर देखे पोटली पेटी में रख दी। आरोपी ने पूनम से कहा था कि पोटली अपने मायके में ले जाकर खोले। पूनम दो माह बाद अपने मायके सुनवारा चरगवां गई और पोटली जब अपनी माँ के सामने खोली तो अवाक रह गई। पोटली में सिर्फ एक जोड़ी पायल, १ बिछिया और १ नारियल मिला जबकि अन्य जेवरात पोटली में नहीं थे। पीडि़ता ने शिकायत में कहा कि आरोपी अरविंद पाण्डे ने उसके साथ धोखाधड़ी कर छल करते हुए जेवरों पर हाथ साफ कर दिया। शिकायत पर आरोपी के विरुद्ध धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज मामला विवेचना में लिया गया। एसपी ए पी सिंह के निर्देश पर एएसपी ग्रामीण सोनाली मिश्रा के मार्गदर्शन में टीआई बरगी मंगल सिंह धु्रवे के नेतृत्व में गठित टीम ने पतासाजी करते हुए आरोपी को तिलवाराघाट स्थित एक मंदिर के पास धरदबोचा। आरोपी अरविंद पाण्डे ने सघन पूछताछ में स्वीकारा कि उसने पूनम साहू के साथ धोखाधड़ी कर जेवर हड़पे। आरोपी की धरपकड़ में बरगी थाने के एसआई एन आर सिन्हा, एएसआई रामकरण मिश्रा, आरक्षक अभिषेक कौरव, विशाल, विपुल, मिथलेश की भूमिका उल्लेखनीय रही।

Related Articles

Back to top button