अजन्ता शूज ने लॉन्च किये देश के पहले एआई प्रेरित स्मार्ट शूज

~ इम्पैक्टो नैविगेटर भारत में बना पहला स्मार्ट शू है ~
 ~ चीफ गेस्ट सौरव गांगुली ने इस बंगाल ब्रांड की वाहवाही की ~
मुंबई । 66 वर्ष पुराने लिगेसी फुटवियर ब्रांड, अजंता शूज ने पहला ‘मेड इन इंडिया’ स्मार्ट शू, नैविगेटर पेश करके देश के फुटवियर बाज़ार में हलचल मचा दी है। यह तार्किक रूप से देश के फुटवियर उद्योग में अभी तक का सबसे बड़ा धमाका है। यह स्मार्ट शू गाइरोस्कोपिक टेक्नोलॉजी द्वारा संचालित आर्टिफीशियल इंटेलिजेंस से प्रेरित है। ऐथलीजर लाइन इम्पैक्टो के साथ-साथ स्मार्ट शू नैविगेटर को आज मशहूर क्रिकेटर, भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्‍तान और बीसीसीअई के पूर्व प्रेसिडेंट, सौरव गांगुली और अजंता शूज के मैनेजिंग डायरेक्टर एवं इम्पैक्टो के फाउंडर, साग्निक बनिक की भव्य उपस्थिति में आज प्रदर्शित भी किया गया।
जूतों की प्रगति में नैविगेटर एक महत्‍वपूर्ण छलांग है जिसे टेक्नोलॉजी और फुटवियर के एकीकरण के साथ अजन्ता द्वारा बनाया गया है। इस स्मार्ट शू में ज्यादा सटीक स्टेप ट्रैकिंग, वर्कआउट ट्रैकिंग, फॉल डिटेक्शन, क्विक कॉल डायल, म्यूजिक ऐप्स और वेबसाइट्स का ऐक्सेस तथा अन्य कस्टमाइजेशंस जैसी विशेषताएं हैं, जिन सभी को बस टैप्स या पैर के जेस्चर द्वारा किया जा सकता है। यह विकास अजन्ता के समर्पण से अत्‍याधुनिक टेक्नोलॉजी का प्रयोग करके संभव किया गया है, जिसमें हमेशा नए-नए आइडियाज से भरपूर इम्पैक्टो के जबरदस्त अनुसंधान और विकास टीम का सहयोग है। यह स्मार्ट शू भारत में बना है, जिसके अधिकाँश कंपोनेंट्स देश के भीतर से लिए गए हैं। इसमें देश के मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में मौजूद तकनीकी नवाचार के लिये विशाल संभावना का लाभ उठाया गया है।
अजंता शूज के मैनेजिंग डायरेक्टर और इम्पैक्टो के फाउंडर, साग्निक बनिक ने इस अवसर पर कहा कि, “उपभोक्ताओं की पसंद और प्राथमिकताओं में बदलाव के कारण ग्राहकों की माँग को ध्यान में रखते हुए अजन्ता ने हमेशा ही नए-नए उत्पादों का निर्माण किया है। इम्पैक्टो लाइन का विकास एक सामान्य व्यक्ति को ऐथलीट बनने की प्रेरणा देने के लिए विकसित किया गया है। यह जूते के उत्पादन की सबसे उन्नत विधि की समझ के साथ तैयार किया गया है। नैविगेटर एकमात्र स्मार्ट शू के रूप में फुटवियर उद्योग में क्रान्ति करने के लिए तैयार है, जिसे मुख्‍य रूप से भारतीय संसाधनों से तैयार और भारत में निर्मित किया गया है।”
स्वदेशी ब्रांड, इम्पैक्टो ऐथलीजर कैटेगरी की नई खोज के अलावा लम्बे समय से बी-बॉयिंग कलाकारों और रैपर्स को सहयोग करते हुए देश के युवा जोश को बढ़ावा देता रहा है। इम्पैक्टो संरक्षित डांसर्स को इस साल ओलिंपिक सोशल मीडिया के पन्नों में जगह दी गई है। शूगर डैडी, स्पेस रनर, फ़ीनिक्स और बेयरफुट जिम शू जैसे उत्पाद इस बात के चमकते उदाहरण हैं कि इस ब्रांड ने भविष्य पर किस प्रकार अपनी नजरें टिका रखी है। इसके सोल्स डांसिंग से लेकर रनिंग और जिमिंग तक ख़ास उद्देश्य पूरा करने के लिए बनाए गए हैं। पैर की बनावट का पालन करते हुए, इम्पैक्टो रेंज विलक्षणता, स्थिरता और लचीलेपन के निरंतर एकीकरण का प्रतीक है।
इस अवसर पर अजंता के ब्रांड एम्बेसडर,  सौरव गांगुली ने कहा कि, “भारत में निर्मित पहले स्मार्ट शू के लॉन्च से जुड़ना वास्‍तव में खुशी की बात है। साग्निक ने अनुसंधान के शुरुआती चरण में ही अपनी दूरदृष्टि मुझे बताई थी और यह चौंकाने वाली थी। मुझे इस प्रोडक्ट में नवाचार और उत्कृष्टता की भावना देखकर खुशी हो रही है। यह भारत में फुटवियर सेगमेंट के लिए एक जबरदस्त टेक्नोलॉजिकल छलांग है। मैं इस कोशिश में अजन्ता की टीम के लिए जबर्दस्‍त सफलता की कामना करता हूँ।”
अजन्ता का जोर हमेशा से एक उचित कीमत पर उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादों पर रहा है। यह कंपनी अपनी पूरी यात्रा में लोगों के विश्वास पर खरा उतरती रही है। इसने अपने पोर्टफोलियो का विस्तार किया है और अपनी उत्पाद रेंज में विविधता लाते हुए ग्राहकों की अपेक्षाओं से आगे रही है। कंपनी ग्राहकों के आराम और सुविधा के लिए नवाचारी टेक्नोलॉजी अपनाने के लिए मानदंड निर्धारित करने के प्रति संकल्पित है। वर्ष 2022 से 2027 में भारतीय फुटवियर बाज़ार के 6.77% सीएजीआर से बढ़ने की उम्मीद है। अजन्ता रणनैतिक रूप से भारत में विस्तारित हो रहे फुटवियर बाज़ार का लाभ उठाने और सम्पूर्ण भारत में अपने जोरदार विस्तार अभियान के माध्यम बड़े मार्केट शेयर पर अधिकार करने की अच्छी स्थिति में है। अजन्ता ने अखिल-भारतीय पहुँच के साथ एक राष्ट्रीय ब्रांड के रूप में खुद को मजबूती से स्थापित किया है। इसने पश्चिम बंगाल में अपनी तीन अत्याधुनिक फैक्ट्रियों में उत्पादन क्षमता को 5.9 मिलियन जोड़ी प्रति माह और राष्ट्रव्यापी नेटवर्क को 1000 से अधिक वितरकों और 35,000 से अधिक रिटेलर्स तक बढ़ा लिया है। ब्रांड ने वर्ष 2023-24 के लिए 500 करोड़ रुपये के कारोबार का लक्ष्य तय किया है और नए-नए बाजारों में अपने आक्रामक विस्तार का प्रयास करेगा। वित्त वर्ष 2023-24 के लिए ग्रुप का लक्ष्य 700 करोड़ रुपये के कारोबार का होगा। इसके अलावा, अजन्ता फिलहाल जीसीसी, अफ्रीका, और ऑस्ट्रेलिया में निर्यात करता है और भारत में 137 स्टोर्स चलाता है जहां इसके 160 एसकेयु प्रति दिन के 10,000 से अधिक जूतों जोड़े बिकते हैं। ग्रुप का लक्ष्य अगले वित्त वर्ष तक अपने रिटेल स्टोर की कुल संख्या 300 करने की है और हरियाणा, तेलंगाना एवं कर्नाटक जैसे नए बाज़ारों में विस्तार पर काम कर रहा है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post