एबीवीपी का छात्र उद्घोष कार्यक्रम हुआ संपन्न, तीन हजार छात्रों हुए शामिल

शिवपुरी। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के द्वारा छात्र उद्घोष सम्मेलन का आयोजन किया गया। गांधी पार्क में आयोजित इस सम्मेलन में 3000 से अधिक छात्र सम्मिलित हुए । जिला सम्मेलन के उद्घाटन सत्र में मुख्य अतिथि के रूप में विद्यार्थी परिषद के क्षेत्रीय संगठन मंत्री चेतस सुखाड़िया, विशिष्ट अतिथि नगर पालिका अध्यक्ष गायत्री शर्मा, प्रांत अध्यक्ष धर्मेंद्र राजपूत व राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अनुप्रिया तंवर मौजूद रहे| कार्यक्रम की अध्यक्षता यूआईटी आरजीपीवी शिवपुरी के डायरेक्टर डॉ राकेश सिंघई ने की| 
जिलेभर से आए। विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए विद्यार्थी परिषद के क्षेत्रीय संगठन मंत्री चेतस सुखाड़िया ने कहा कि विद्यार्थी परिषद एकमात्र छात्र संगठन है जो छात्रहित के साथ-साथ राष्ट्रहित व समाजहित मे निरंतर कार्य करता है | विद्यार्थी परिषद का सदैव मानना रहा है कि आज का छात्र आज का नागरिक है | हम विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता केवल भारत माता की जय नारा ही नहीं लगाते हैं अपितु भारत माता की जयकार को चरितार्थ करने का काम भी करते हैं और यह नारा सिर्फ मुँह से न निकलते हुए हृदय की गहराई से निकलता है | 
विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए कार्यक्रम की विशिष्ट अतिथि नगर पालिका अध्यक्ष गायत्री शर्मा ने कहा कि विद्यार्थी सदैव इस देश में परिवर्तन का वाहक रहा है | देश में जितने भी बड़े परिवर्तन हुए हैं उनमें विद्यार्थियों का योगदान सबसे अधिक है। छात्रशक्ति ही राष्ट्रशक्ति है यह विद्यार्थी परिषद के द्वारा समाज में लाए गये बदलावों से सिद्ध हुआ है| मैं गौरवान्वित हूं कि मुझे जिले की समस्त छात्रशक्ति के दर्शन का गौरव विद्यार्थी परिषद के इस छात्र उद्घोष सम्मेलन के माध्यम से मिला|
राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य अनुप्रिया तंवर ने कहा कि विद्यार्थी परिषद सदैव छात्र हित के लिए अड़ी रही है व राष्ट्रहित की बात आने पर सबसे प्रथम पंक्ति में खड़ी रही है| 90 के दशक मे कश्मीर समस्या हो या मध्यप्रदेश में स्नातक में सेमेस्टर प्रणाली खत्म कराने की बात हो विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने सदैव संघर्ष किया है | शिवपुरी विधि महाविद्यालय की बरसों से लंबित पड़ी मान्यता को लेकर भी विद्यार्थी परिषद एक लंबे समय से लड़ाई लड़ती आ रही थी जिसके परिणाम स्वरूप अभी कुछ दिन पूर्व ही बार काउंसिल ऑफ इंडिया ने शिवपुरी विधि महाविद्यालय को मान्यता मिली है |
कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे यूआईटी आरजीपीवी शिवपुरी के डायरेक्टर डॉ राकेश सिंहई ने कहा कि छात्रों में उत्सुकता व उत्साह अधिक होता है | यदि छात्रशक्ति को सही दिशा में लगाया जाए तो समाज में ऐसी कोई भी समस्या नहीं जिसका समाधान ना हो सके | इतनी बड़ी संख्या में जिलेभर से विद्यार्थी इस जिला सम्मेलन में पधारे है यह कहीं न कहीं बताता है कि विद्यार्थियों के लिए विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता कंधे से कंधा मिलाकर लड़ाई लड़ते हैं|
उद्घाटन के पश्चात नगर में होते हुए भव्य शोभायात्रा निकाली गई जिसका समापन माधव चौक पर खुला मंच कार्यक्रम के साथ हुआ|
खुला मंच कार्यक्रम में विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए विभाग संयोजक आदित्य पाठक ने कहा कि विद्यार्थी परिषद छात्रशक्ति है तो आप सभी कार्यकर्ताओं से है| विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता वर्षभर शिक्षा परिसरों में विद्यार्थियों के हित के लिए लड़ाई लड़ने का काम करते है| विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं द्वारा पूरे जिले भर मे सर्वे कर शिक्षा समस्याओं को लेकर 15 सूत्रीय प्रस्ताव भी तैयार किया है| उसी प्रस्ताव की यदि प्रमुख मांग देखे तो गैर मान्यता प्राप्त आईटीआई कॉलेजों की समस्या पर प्रभावी नियंत्रण किये जाने की आवश्यकता है। इस संबंध में उल्लेखनीय है कि अन्य जिलों में मान्यता प्राप्त आईटीआई कॉलेज यहाँ जिले में दलालों के माध्यम से संस्था के नाम पर ऑफिस खोलकर विद्यार्थियों को एडमिशन उपलब्ध कराते हैं। विद्यार्थी इस बात से अनभिज्ञ होता है कि वास्तव में उसका एडमिशन किस संस्था में हुआ है। बाद में परीक्षा के समय हॉल टिकिट जनरेट होने पर उसे पता लगता है कि उसके साथ छलावा हुआ है। वर्ष 2020 में ऐसी ही घटना रेडिएंट कॉलेज में घटित हुई थी जहाँ विद्यार्थियों को धोखा देकर उनके एडमिशन किये गए थे। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का यह "छात्र उदघोष" मांग करता है कि ऐसे अवैध एडमिशन देने वाले आईटीआई कॉलेजों को चिन्हित कर कार्रवाई संस्थित की जाए।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post