यमुना एक्सप्रेसवे पर वैन में गैंगरेप: तीन गिरफ्तार, मेडिकल में दुष्कर्म की पुष्टि,

आगरा । नोएडा से औरैया जा रही युवती से एत्मादपुर में सामूहिक दुष्कर्म की घटना में आरोपी जेल जा चुके हैं। पुलिस केस में पुख्ता साक्ष्य जुटा रही है। पीड़िता का मेडिकल कराया गया है। इसकी प्राथमिक जांच में दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है। स्लाइड की रिपोर्ट मिलना बाकी है। इसके साथ ही पुलिस ने आरोपियों और पीड़िता के कपड़ों को सील कर दिया है। इनको विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा जाएगा। वहीं सीसीटीवी फुटेज सहित अन्य साक्ष्य भी पुलिस ने जुटाने शुरू कर दिए हैं।

युवती विधूना, औरैया की रहने वाली है। वह मंगलवार रात को नोएडा के सेक्टर 37 से ईको वैन में फिरोजाबाद जाने के लिए बैठी थी। फिरोजाबाद पहुंचने पर चालक जयवीर ने औरैया तक छोड़ने का झांसा दिया। बाद में कुबेरपुर वापस आकर दो साथियों को बुलाकर जंगल में ले जाकर वैन में दुष्कर्म किया था। बुधवार सुबह पीड़िता पुलिस के पास पहुंची थी। घटना की जानकारी दी। इस पर मुकदमा दर्ज किया गया। 
वैन की पहचान होने और पीड़िता के बयान के आधार पर आरोपी रसूलपुर निवासी जयवीर, टीटू उर्फ हेमंत और रामराज को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। पुलिस ने पीड़ित युवती का जिला अस्पताल और लेडी लायल में मेडिकल कराया है। प्राथमिक मेडिकल में दुष्कर्म की पुष्टि हुई है। हालांकि अभी स्लाइड की रिपोर्ट मिलना बाकी हैं। पुलिस को रिपोर्ट का इंतजार है। पुलिस ने आरोपियों और पीड़ित युवती के कपड़ों को सील किया है। इनको फोरेंसिक साइंस लैब भेजा जाएगा।
आरोपी जेल भेजे
पश्चिमी जोन के डीसीपी सत्यजीत गुप्ता ने बताया कि मामले में आरोपियों को जेल भेजा जा चुका है। पीड़ित युवती का मेडिकल कराया गया है। स्लाइड की रिपोर्ट मिलना बाकी है। मुकदमे में आरोपियों को सजा दिलाने के लिए ठोस साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। 
कड़ी सजा की मांग
विवेचक ने पीड़िता के बयान दर्ज किए हैं। इसकी वीडियो रिकॉर्डिंग भी की गई है। उसने एफआईआर का समर्थन किया है। उसका कहना था कि वह जल्दी घर पहुंचना चाहती थी, इसलिए ईको गाड़ी में सवार हो गई थी। उसे नहीं पता था कि चालक के मन में क्या साजिश चल रही है। वह चीखती रही, लेकिन आरोपी नहीं माने। उसे हवस का शिकार बनाया। तीनों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए। इस दौरान वह रोने भी लगी।
पुलिस ने भेजा घर 
युवती अकेले ही पुलिस से शिकायत करने के लिए थाना एत्मादपुर तक आई थी। बुधवार रात को वह पुलिस की मौजूदगी में ही रही। तब तक घर से कोई नहीं आया। इस पर पुलिस ने परिजन को सूचना दी। पिता ने कहा कि वो आगरा आ जाएंगे। मगर, वो बृहस्पतिवार शाम तक नहीं आए थे। थाना एत्मादपुर के प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि पीड़ित युवती के घरवाले नहीं आए थे। उसे पुलिस ने खुद घर भिजवा दिया है।
कोर्ट में दर्ज कराए जाएंगे बयान
शीतकालीन अवकाश होने की वजह से कोर्ट बंद हैं। इस कारण पीड़ित युवती के कोर्ट में बयान दर्ज नहीं हो सके हैं। पुलिस का कहना है कि युवती ने विवेचक को दिए बयान में एफआईआर का समर्थन कर दिया है। उसके कोर्ट में बयान केस में अहम साबित होंगे। इसके लिए कोर्ट खुलने का इंतजार है।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post