शहडोल में नाबालिग के साथ हुए गंगरेप की जांच को लेकर गृहमंत्री को दिया ज्ञापन

भोपाल । शहडोल जिले के ग्राम बाड़ा निवासी शिवनारायण तिवारी की 14 वर्षीय पुत्री के साथ गत वर्ष 13 नवंबर को गाँव के कई दबंगों ने सामूहिक दुराचार कर उसकी नृशंस हत्या कर लाश कुए में फेंक दी थी । इस सम्पूर्ण घटना पर सपक्स पार्टी की प्रदेश प्रवक्ता एवं ब्राह्मण समाज की अध्यक्ष वंदना डूबे ने पुलिसकी जांच को संदिग्ध एवं पक्षपातपूर्ण बताया है। इस मामले में शहडोल पुलिस ने आरोपियों के साथ मिलकर मामले को रफा दफा करने की कोशिश की गई है जिस पीड़िता के परिजनों को न्याय नहीं मिल रहा है।पीड़ित परिवार दहशत में है केस वापस लेने के लिए आरोपियों द्वारा दबाव डाला जा रहा है। इस प्रकरण की जांच को लेकर पूर्व में पुलिस महानिदेशक तक शिकायत की जा चुकी हैं। लेकिन फिर भी जांच को निष्पक्ष नहीं किया जा रहा है । जिससे ब्राह्मण समाज में पुलिस व सरकार के प्रति नाराजगी बनी हुई है। इसकी निष्पक्ष जांच कराए जाने के लिए सपक्ष पार्टी के द्वारा प्रदेश सरकार के ग्रह मंत्री नरोत्तम मिश्रा को 18 दिसंबर 2023 को ज्ञापन दिया। जांच के लिए प्रमुख बिंदु जिन पर पुलिस द्वारा अनदेखा किया गया

1. यह कि इस घटना की रिपोर्ट लिखने में ही पुलिस ने 2 दिन का समय लगाया। शिवनारायण की क साथ गैंगरेप के साथ अपराधियों ने जघन्य फुटता के साथ हत्या कर दी जिसे एलिस ने मार रही गिरफ्तार कर ऐसी मयावद अमानविक पटना में लीपापोती कर जपान एवं सहकार्यवाकया (2). इस घटना में जिले के ब्राम्हण समाज एवं क्षेत्रीय जनता में भीषण जनाक्रोश है। जिला ब्राम्हण समाज नागरिक, एकता मंच ने दिनांक 21/11/2022 को हजारों की संख्या में प्रदर्शन कर इस आशय का जापन जिला

प्रशासन एवं अति पुलिस महानिर्देशक को दिया था।
. इस गंभीर घटना के कारण शाम एवं समीपवर्ती क्षेत्र में इन दबंग अपराधियो का व्यापक है। ग्राम

खाडा में मात्र 3 ब्राम्हण गरीब परिवार है वहा इनकी (अपराधी) परिवार की आबादी 60% है। इनका इतना है कि इनके दादा वर्तमान भा.ज.पा. विधायक (जैतपुर) के ससुर स्व भगवीन दीन सिंह को कालि पोतकर गाँव में घुमाया था। (4). इस घटना में सम्पूर्ण जिले में आक्रोश है यदि जिला ब्राम्हण समाज एवं नागरिक एकता मंच आ

पीडित परिवार के साथ न खड़ा होता तो पुलिस द्वारा इस घटना को आत्महत्या बताकर विगत की तरह पुरी

जाँच कर समाम कर दिया जाता |

(5). इस घटना में अपराधियों के सम्बन्ध में पीडित परिवार के पास जो तथ्य एवं साध्य थे और पीडित परिवार का कथन न लिया जाकर मनगवंत झूठे तथ्य एवं साक्ष्य कर अन्य अपराधियों को गिरफ्तार न कर परिवार मान 1 व्यक्ति को पकड़ा है जबकी ऐसी घटना 1 व्यक्ति कर ही नहीं सकता इस पूरी घटना में सीपी अमीक्षक के द्वारा की गई है क्योंकी अपराधियों के परिवार में उसके पिता बड़े दबंग और कांग्रेस के बड़े नेता (6). यह कि ग्राम खाड़ा के अपराधी परिवार के लोग अपनी संपन्नता
के बल पर गरीब ब्राम्हण पीड़ित परिवार के साथ अभी भी अन्याय किया जा रहा है। पीडित परिवार को बगान नागाने रही जिसकी F.I.R. पीडित परिवार ने दिनांक 12/1/2023 को थाना जैतपुर में किया है।

पीडित ब्राह्मण परिवार के साथ अपराधी परिवार ने अपने पैसे के प्रभाव में अत्याचार किया ही साथ में जिला पुलिस प्रशासन ने 14 वर्षीय अबोध बच्ची पर झूठे चरित्र हतन के अपमान जनक अमार्यदित अरोप लगाए जो हमारी पुलिस व्यवस्था एवं प्रदेश को लोकप्रिय सरकार के आचरण पर गंभीर पृथ है।

आपसे पीड़ित परिवार एवं क्षेत्रीय जनता जिला ब्राम्हण समाज और नागरिक एकता मंच निष्पक्ष जांच इस घटना की पुनः कराने तथा घटना में अपराधियों को बचाने झूठे एवं फर्जी ढंग से पटना को सामान्य बताकर जिला पुलिस द्वारा शीघ्र न्यायालय में चालान प्रस्तुत कर अपराधियों को सहयोग करने की साजिश को तत्काल रोकते हुए हमारी आपसे मात्र न्याय मांगते हुए एक मांग है कि जिला पुलिस अधीक्षक को दुसरे जिले की पुलिस से इस घटना की निष्पक्ष जानकारी कर इस पीड़ित परिवार और जिला ब्राम्हण समाज को दिया जाय।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post