जल संसाधन मंत्री सिलावट ने चार अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के दिए निर्देश

घोड़ा पछाड़ बांध का निरीक्षण करने के दौरान कमियां पाए जाने पर मंत्री ने नाराजगी व्यक्त की
भोपाल। जल संसाधन मंत्री तुलसीराम सिलावट भोपाल में घोड़ा पछाड़ डैम का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मंत्री ने 2 किलोमीटर पैदल चलकर डैम की स्थिति का जायजा लिया और बांध दीवार में कमी पाए जाने पर जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को शो कॉज नोटिस जारी करने के निर्देश दिए ।
श्री सिलावट ने आज भोपाल स्थित घोड़ा पछाड़ डैम का निरीक्षण किया । यह डैम 1965 का बना हुआ है और इसमें 12 एमसीएम से अधिक पानी आता है। इसके पानी से लगभग 1400 हैक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई की जाती है।
 मंत्री सिलावट ने बांध की दीवार पर सड़क बनाने के निर्देश दिए। उसके साथ ही मरम्मत का काम नही होने पर भी नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्य अभियंता श्री कुसरे को निर्देश दिए कि वे जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री एसडीओ, दो सब इंजीनियर को शो काज नोटिस जारी कर तीन दिन में जवाब ले ।
 मंत्री सिलावट ने डैम की बॉल पर 2 किलोमीटर पैदल चलकर निरीक्षण किया और इसी के साथ डैम से निकलने वाली नहर का भी निरीक्षण किया। नहर से पानी के रिसाव पर चिंता व्यक्त करते हुए मंत्री ने कहा कि केनाल के रिसाव को ठीक किया जावे और उसका पानी वेस्टेज ना हो इसके लिए भी पर्याप्त उपाय किए जाएं।
 श्री सिलावट ने बांध में मछली पालन की व्यवस्थाओं को भी देखा यहां पर 266 केज लगाए गए है, जिनमें मछली उत्पादन किया जा रहा है डायरेक्टर मछली पालन विभाग श्री भरत सिंह ने बताया कि प्रत्येक केज में साल में 4 टन मछली पैदा हो रही है। इस प्रकार यहां एक हजार टन से अधिक मछली साल भर में पैदा की जा रही है। मछली की गुणवत्ता के लिए उच्च क्वालिटी स्टेंडर्ड फ्राई डाला जाता है ।
 मंत्री श्री सिलावट ने बांध के पास बने निरीक्षण भवन का भी निरीक्षण और खाली जगह में वृक्षारोपण करने के निर्देश दिए। नहर के आस-पास यदि कोई अतिक्रमण है तो उसे जिला प्रशासन के साथ कार्रवाई कर तुरंत हटाया जाए।
श्री सिलावट ने स्थानीय विधायक और जन प्रतिनिधि के साथ बांध से पानी छोड़े जाने पर कार्यक्रम करने के निर्देश दिए ।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post