सीएम राइज स्कूलों में सभी सुविधाएं मापदंड अनुरूप सुनिश्चित करें : संभागायुक्त

छात्रावासी सभी बालक -बालिकाओं को हेल्थ कार्ड बनाकर प्रतिमाह छात्रावास में ही स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाए

भोपाल ! सीएम राइज स्कूलों में सभी आवश्यक सुविधाएं मापदंड अनुरूप सुनिश्चित करने के निर्देश जिला शिक्षा अधिकारियों को दिए। उन्होंने इस दौरान स्कूल शिक्षा और माध्यमिक शिक्षा अभियान के छात्रावासों के संचालन की भी समीक्षा की। संभागायुक्त मालसिंह भयड़िया ने स्कूल शिक्षा और अनुसूचित जाति जनजाति विभाग के अंतर्गत छात्रावासों में निवासरत बालक-बालिकाओं के शत-प्रतिशत परीक्षा परिणाम होना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इसमें कोई कोताही नहीं बरती जाए। श्री भयड़िया ने कहा कि जिस छात्रावास का परीक्षाफल ठीक नहीं रहेगा उनसे संबंधित अधिकारियों पर कार्यवाही की जाएगी। श्री भयड़िया ने संभागीय समीक्षा के दौरान अधिकारियों को निर्देश दिए।

 संभागायुक्त मालसिंह भयड़िया ने संभाग के सभी 36 सीएम राइज स्कूल के काम काज की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सभी विद्यार्थियों को यूनिफार्म और पुस्तकों का शत-प्रतिशत वितरण करने के निर्देश दिए। श्री भयड़िया ने कहा कि शालाओं को आवंटित राशि और शैक्षणिक गुणवत्ता की शिक्षा अधिकारियों को स्कूलों का ऑफ और ऑनलाइन निरीक्षण करने के निर्देश दिए।

 संभागायुक्त श्री भयड़िया ने बताया कि बालिकाओं के कस्तूरबा छात्रावास के कार्यों की भी जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि अगले माह सभी वार्डन के लिए एक दिवसीय प्रशिक्षण आयोजित किए जाए। श्री भयड़िया ने अनुसूचित जाति जनजाति विभाग के लिए बनाए गए छात्रावास मॉडल का भी अध्ययन करने के निर्देश दिए। श्री भयड़िया ने कहा कि गांव के भ्रमण के दौरान छात्रावासों और स्कूलों का अधिकारी निरीक्षण करें और अनियमितता पाए जाने पर कार्यवाही सुनिश्चित करें। 

 संभागायुक्त श्री भयड़िया ने निर्देश दिए कि छात्रावास सभी बालक - बालिकाओं को हेल्थ कार्ड बनवाकर प्रतिमाह छात्रावास में ही स्वास्य्श परीक्षण कराया जाए। श्री भयड़िया ने संभाग के सभी विद्यालयों में नल-जल आपूर्ति के लिए की गई व्यवस्था की जानकारी प्राप्त की। श्री भयड़िया ने कहा कि शिक्षकों की बड़ी संख्या में पेंशन प्रकरण लंबित होने पर नाराजगी व्यक्त की और अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रकरण एक सप्ताह में वस्तु स्थिति के साथ मुझे अवगत कराएं। उन्होंने कहा कि अकारण एक भी प्रकरण लंबित पाए जाने पर संबंधित जिला शिक्षा अधिकारी की वेतन वृद्धि रोकने की कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने संयुक्त संचालक शिक्षा को निर्देश दिए कि सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी किए जाए। संभागायुक्त श्री भयड़िया ने कहा कि प्रत्येक जिले के एक ब्लाक में स्कूल शिक्षा विभाग एवं अनुसूचित जाति जनजाति विभाग द्वारा संचालित छात्रावासों को मॉडल के रूप में विकसित किया जाए। 

 बैठक में संयुक्त संचालक संभागीय शिक्षा अधिकारी अरविन्द्र कुमार चोरगड़े एवं सभी जिलों के शिक्षा अधिकारी, अनुसूचित जाति विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post