तकनीकी शिक्षा विभाग के स्थाई कर्मियों को नहीं मिला 6 वर्ष बाद भी नियमित करण का लाभ

भोपाल। उच्च शिक्षा विभाग मध्यप्रदेश शासन के स्पष्ट आदेश जारी होने के बावजूद भी संचालक तकनीकी शिक्षा विभाग ने तकनीकी शिक्षा विभाग में कार्यरत स्थाई कर्मियों को चतुर्थ श्रेणी पद पर नियमित करण का लाभ 6 वर्ष बाद भी नहीं दिया है जिस कारण तकनीकी शिक्षा विभाग के स्थाई कर्मियों में भयंकर आक्रोश व्याप्त है मध्यप्रदेश कर्मचारी मंच ने प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव को पत्र सौंपकर मांग करी है कि शासन के आदेश अनुसार तकनीकी शिक्षा विभाग में रिक्त चतुर्थ श्रेणी के पदों पर तकनीकी शिक्षा विभाग में कार्यरत स्थाई कर्मियों को तत्काल नियमित नियुक्ति दी जाए।
मध्यप्रदेश कर्मचारी मंच के प्रांत अध्यक्ष अशोक पांडे ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया है कि राज्य सरकार के सामान्य प्रशासन विभाग ने 7 अक्टूबर 2016 को आदेश जारी कर के समस्त विभागों को निर्देश दिया था कि विभाग के चतुर्थ श्रेणी के पदों पर स्थाई कर्मियों को प्राथमिकता के आधार पर नियमित नियुक्ति दी जाए उसी के पालन में मध्य प्रदेश शासन उच्च शिक्षा विभाग ने पत्र जारी कर संचालक तकनीकी शिक्षा विभाग को निर्देश दिए थे कि तकनीकी शिक्षा विभाग में कार्यरत स्थाई कर्मियों को विभाग के चतुर्थ श्रेणी पदों पर नियमित किया जाए लेकिन संचालक तकनीकी शिक्षा विभाग ने विभाग में पद रिक्त होने के बावजूद भी किसी भी स्थाई कर्मी को चतुर्थ श्रेणी पद पर नियमित नियुक्ति का लाभ नहीं दिया है इससे स्पष्ट है कि संचालक तकनीकी शिक्षा विभाग शासन के आदेशों का उल्लंघन कर रहे हैं और कर्मचारी विरोधी नीतियां अपना रहे हैं मध्य प्रदेश कर्मचारी मंच ने निर्णय लिया है कि यदि संचालक तकनीकी शिक्षा विभाग ने शीघ्र ही स्थाई कर्मियों को नियमित नियुक्ति देने की कार्रवाई नहीं करी तो कर्मचारी मंच अगले चरण में तकनीकी शिक्षा विभाग संचनालय सतपुड़ा भवन के समक्ष आंदोलन करेगा।
                             

0/Post a Comment/Comments

Previous Post Next Post